ग्रामीण बैंक के कैशियर से लूट के 4 गिरफ्तार

0 1

रायगढ़। बिलासपुर संभाग के रायगढ़ जिले के खम्हार ग्रामीण बैंक के कैशियर से लूट मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि 2 फरार हैं| सभी आरोपी अलग-अलग मामलों में जेल में थे और इस दौरान यह योजना बनाई थी| लुटेरों की फायरिंग से कैशियर जख्मी हो गया था|

बता दें गत 1 मार्च को खम्हार ग्रामीण बैंक के कैशियर विनोद लकड़ा को गोली मारकर छह बाइक सवारों ने उसका बैग लूट लिया था। लूटेरों को भरोसा था कि बैग नोटों से भरा है, लेकिन उनका अनुमान गलत निकला|

धरमजयगढ़ पुलिस मामला दर्ज कर जाँच में जुट गई थी ।

इस दौरान धरमजयगढ़, कापू, लैलूंगा, अम्बिकापुर, पत्थलगांव, कोरबा, जशपुर और गुमला, रांची मार्ग में पड़ने वाले हॉटल, ढाबा, पेट्रोल पम्प में लगे सीसीटीवी  फुटेज खंगाले गये| लुटेरों द्वारा पल्सर बाइक उपयोग किये जाने को लेकर रायगढ़, धरमजयगढ़, कोरबा, जशपुर के पल्सर बाइकर्स की सघन जांच पतासाजी की गई ।

जाँच पड़ताल के दौरान धरमजयगढ़ पुलिस को सजायाफ्ता आरोपी अंजुलस एक्का और संदीप राठिया की धरमजयगढ़ एवं आसपास देखे जाने की जानकारी मिली। कोरबा निवासी इन दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ में 4 अन्य साथी कल्याण खाखा (झारखंड), करन दास महंत ग्राम बांसाझार छाल तथा अंजुलस एक्का का भाई लाजरूस एक्का और अंजुलस का जीजा अनिल तिर्की का नाम सामने आया।

जिसमें करनदास महंत और लाजरूस एक्का को भी हिरासत में लिया गया। जबकि, कल्याण खाखा झारखंड और अनिल तिर्की निवासी लेमरू कोरबा फरार है।

अंजुलस एक्का वर्ष 2016 में कोरबा के डॉक्टर मेहता के मर्डर केस में 4 साल तक जिला कोरबा जेल में सजायाफ्ता था। कोरबा जेल में ही कुख्यात अपराधी रविवादी निवासी नकना धर्मजयगढ़ का मर्डर केस में बंद था। उसने ही अंजुलस एक्का को ग्रामीण बैंक खम्हार के कैशियर के बारे में  जानकारी दी जिसके बाद पूरी योजना  बनाई गई थी |

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.