बेलसोंडा युवती हत्या: निराश होकर इस तरह बनाया प्लान

0 6

महासमुन्द| शादी न हो पाने से निराश बेलसोंडा युवती हत्या के आरोपी ने ठंडे दिमाग से पूरा प्लान बनाकर की थी| पहली कोशिश विफल हो जाने के बाद दूसरी बार में पास जाकर उसकी कनपटी पर गोली मार दी| पुलिस ने उसके दोनों साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया है| हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद कर लिए हैं|

महासमुंद जिला मुख्यालय के समीप ग्राम बेलसोंडा में कल गुरुवार को दिन दहाड़े हुए कत्ल के अरोपी चंद्रशेखर परमार ने हत्या के सम्बंध में पुलिस को जो बयान दिया उससे पता चलता है कि प्रेम से इंकार पर उस पर हत्या का जूनून सवार हो गया था|

उक्त मामले में महासमुन्द कोतवाली के तहत ग्राम बेलसोण्डा में गुरूवार को दिन दहाड़े हुये गोली काण्ड का खुलासा किया। पुलिस पूछताछ में मुख्य आरोपी ने हत्या का पूरा प्लान बताया| उसके मुताबिक वह मृतिका से प्यार करता था और उससे शादी करना चाहता था।परन्तु रुपा के परिजन उसे पसंद नहीं करते थे। जिसके कारण रुपा ने भी उससे बात करना बंद कर दिया था। जिसके कारण वह दिमागी रूप से विचलित हो गया था। इसके बाद ही उसने रूपा की हत्या करने की योजना बनाई।

घटना को अंजाम देने पूरा प्लान उसकी बनाई हुई थी। आरोपी के अनुसार उसने अपने दो अन्य साथियों साथ मिलकर हत्या का प्लान किया था।

प्लान के अनुसार गुरुवार के पहले भी आरोपी ने रूपा को मारने का प्रयास किया था। पहले दिन असफल होने के बाद आरोपी ने दूसरे दिन दिया घटना को अंजाम दिया।घटना में चन्द्र शेखर के दो साथी भरत लाल निषाद एवम गोपाल यादव शामिल थे।जिन्हें कोतवाली पुलिस ने साइबर सेल के साथ मिल कर कल ही समीप के ग्राम ग्राम मुढेना में घेराबंदी कर धर दबोचा।

आरोपियों ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि वे बुधवार 10.02.2021 को भी चन्द्र शेखर व भरतलाल निषाद एक साथ रूपा धीवर की हत्या करने बेलसोण्डा तालाब के पास गए थे। जहां रुपा नहाने आती थी। परन्तु उस दिन रुपा नहाने नही आई और उनका प्लान नाकाम हो गया|

परन्तु आरोपी चंदशेखर पर रुपा की हत्या का खून सवार। था।लिहाजा इसके बाद गुरुवार को पुनः नए प्लान के साथ तीनो युवक ग्राम बेलसोंडा पहुँच गए और अपनी योजना को अंजाम दे दिया।

भरतलाल एवम गोपाल
चंद्रशेखर

मुख्य अरोपी चंद्रशेखर के अनुसार उसने हत्या में सहयोग करने के लिए भरतलाल एवम गोपाल को 70 हजार रुपये देने का वायदा किया था।

उधर मृतिका के पिता ने थाना महासमुंद में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि मै अपने काम से भगवती हॉटल बेलसोण्डा काम में गया था कि करीबन 12.45 बजे दोपहर मेरी बहु कलेन्द्री एवं बड़ी बेटी हेमलता ने मुझे फोन कर बताया कि नदी मोड घोडारी का निवासी चन्द्र शेखर परमार अपने दो अन्य साथियों के साथ घर के पास गली में आया था और करीबन 12.30 बजे रूपा को कनपट्टी पर गोली मार दिया है। मैं तुरंत अपने घर पास पहुंचा तो देखा की मेरी छोटी बेटी रूपा वही गली में जमीन पर चित पड़ी हुई थी रूपा के कनपट्टी से खून बह रहा था।आनन-फानन में घायल रूपा को ग्रामीण मोटर सायकल में अस्पताल ले जा रहे थे, रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त 01 नग देशी कट्टा ,01 नग जिंदा कारतूस एवम शह आरोपियो से दो चाकू जब्त किये है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.