छत्तीसगढ़ में करीब 6 हजार बच्चे कोरोना संक्रमित

देश भर में मार्च से अप्रैल के बीच करीब 80 हजार बच्चे संक्रमित

0 0

नई दिल्ली| कोरोना की दूसरी लहर में बच्चे भी खासा संक्रमित होने लगे हैं| देश भर में मार्च से अप्रैल के बीच करीब 80 हजार बच्चे संक्रमित हो चुके हैं। इनमें छत्तीसगढ़ के करीब 6 हजार बच्चे हैं| पांचवें सिरो सर्वे में यह बात सामने आई है|

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और दिल्ली में अब तक कुल 79688 बच्चे संक्रमित हो चुके हैं।

दिल्ली और गुजरात में नवजात में भी संक्रमण का मामला सामने आ चुका है| दूसरी लहर की चपेट में आए नवजात से लेकर 15 साल तक के बच्चों के लिए कोविड  की दूसरी लहर घातक साबित हो रही है।

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र में एक मार्च से चार अप्रैल तक राज्य में 60,684 बच्चे संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 9882 बच्चों की उम्र 5 साल से कम है।

पहली लहर के दौरान पूरे देश के मुकाबले महाराष्ट्र में ज्यादा बच्चे संक्रमित हुए थे और बच्चों में मल्टी सिस्टम इंफ्लेमेट्री सिन्ड्रोम के सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए। इस बार हालात और बिगड़ गए है

महाराष्ट्र के बाद  छत्तीसगढ़ में 5940 बच्चों के संक्रमित होने की खबर है।  इनमें 922 बच्चे छोटी उम्र के हैं।

उत्तर प्रदेश  में अब तक 3004 बच्चे संक्रमित हुए जिनमें 471 बच्चे पांच साल तक के हैं। कर्नाटक में पांच साल से छोटे 871 मरीजों समेत अब तक कुल 7327 मरीजों के संक्रमित होने की जानकारी है।

दिल्ली में 4 अप्रैल तक 2733 बच्चे संक्रमित हुए और जिनमें 441 बच्चे 5 साल से छोटे हैं।

ओडिशा में भी बच्चों और युवाओं में ज्यादा संक्रमण सामने आ चुका है|

पांचवें सिरो सर्वे में पाया गया कि 52% बच्चों के शरीर में ठीक उसी तरह कोरोना एंटीबॉडी थी जैसे वयस्कों में पायी जाती रही हैं 15 से 23 जनवरी तक चले इस सर्वे में पांच से 12 साल तक की उम्र के 28 हजार बच्चों को शामिल किया गया था।

बता दें डाक्टर पहले ही बच्चों में लक्षणों को नजर अंदाज नहीं करने की अपील कर चुके है| क्योकि नया वेरिएंट काफी घातक है| सभी उम्र पर असर कर रहा है|

उधर कल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक  में नए मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि का एक स्नैपशॉट पेश किया। उन्होंने कहा कि 12 अप्रैल, 2021 को भारत में अब तक किसी एक दिन सबसे ज्यादा कोविड मामले सामने आए थे, जो दुनिया में किसी एक दिन के लिहाज से भी उच्चतम संख्या थी।

12 अप्रैल, 2021 को दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों में भारत की हिस्सेदारी 22.8 प्रतिशत थी। उन्होंने कहा, भारत में वर्तमान में नए कोविड मामलों में सबसे तेज विकास दर 7.6 प्रतिशत है, जो जून 2020 में दर्ज की गई 5.5 प्रतिशत की विकास दर की तुलना में 1.3 गुना अधिक है। इसके साथ सक्रिय मामलों की दैनिक संख्या में खतरनाक वृद्धि देखी जा रही है जो इस समय 16,79,000 है।

साथ ही, मौतों की संख्या में 10.2 प्रतिशत की तेज वृद्धि भी हुई है। हर दिन सामने आने वाले नए मामलों और बीमारी से उबरने वाले लोगों की संख्या के बीच का बड़ा अंतर यह दिखाता है कि लगातार बढ़ते सक्रिय मामलों के साथ संक्रमण के मामले बीमारी से उबरने के मामलों की तुलना में काफी तेज से बढ़ रहे हैं।

केंद्र ने शनिवार को महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, झारखंड, गुजरात, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों को, जहां कोरोना की स्थिति काफी खराब है, वेंटिलेटर की नई आपूर्ति प्रदान की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.