बाघ के खाल के साथ पांच पुलिस समेत 8 गिरफ्तार

0 1

जगदलपुर| छत्तीसगढ़ के बस्तर  में बाघ के खाल के साथ पांच पुलिसकर्मी  समेत 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है| ये शिवरात्रि में तांत्रिक पूजापाठ करने के लिए इसे लेकर आ रहे थे|

पुलिस के मुताबिक  11 मार्च की शाम बस्तर जिला पुलिस एवं वन मण्डल के अधिकारियों को   कुछ संदिग्ध लोगों के जगदलपुर शहर में बाघ की खाल को लेकर शिवरात्रि में तांत्रिक पूजापाठ करने के लिए आने की सूचना मिली|

उक्त सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में जिला पुलिस बल एवं वन विभाग  की  संयुक्त टीम द्वारा  12 मार्च  तडके लगभग 03.00 बजे   वाहन क्र. CG18 L/1184 सफेद रंग की महेन्द्रा ब्रावो स्पोट्स को दन्तेश्वरी मंदिर सामने रोक कर तलाशी करने पर एक बाघ की खाल लम्बाई 223 से.मी. तथा चैडाई 48 से.मी. बरामद की गई।

मौके से कुल 08 संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर पाया गया कि जिला दन्तेवाड़ा के भांसी थाना क्षेत्र से दो व्यक्तियों से बाघ की खाल प्राप्त कर शिवरात्रि के अवसर पर पूजापाठ करने से सुख समृद्धि मिलने की मान्यता से जगदलपुर दन्तेश्वरी मंदिर के पास आना बताया गया।

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर जिले और दंतेवाड़ा जिले में पदस्त 6 पुलिस कर्मी और 2 स्वास्थ्य कर्मी एक सिविलियन की मदद से महिंद्रा जाइलो वाहन से पहले दंतेवाड़ा जिले के बचेली नगर गए और वाहा से बाघ के खाल को गाडी में लाद कर जगदलपुर की ओर रवाना हो गये|

इस बात की जानकारी वन विभाग को लग गई और खाल तस्करों को पकड़ने जाल बिछाया गया|

आज तड़के सुबह 3 बजे जैसे ही आरोपी सिरहासार के पास पहुँचे वन विभाग की टीम और स्थानीय पुलिस ने वाहन रोक कर तलासी ली|

इस दौरान गाडी की डिक्की में रखी बाघ की खाल बरामद किया गया आरोपियों ने बाघ के खाल को वन विभाग के समक्ष खरीदकर लाना बताया है तथा उसे रायपुर ले जाने की बात स्वीकार किया है|

बाघ की खाल लम्बाई 223 से.मी. तथा चैडाई 48 से.मी. बरामद की गई

मामले में एक पुलिस कर्मी फरार बताया जा रहा है| इन पुलिस कर्मियों में 3 बीजापुर और 2 दंतेवाड़ा में पदस्थ  है जबकि 2 स्वास्थ्य बीजापुर जिले में कार्यरत है|

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में बीजापुर के अनिल कुमार,राकेश,पवन कुमार,अरुण मोड़ीया,बाबूलाल मजजी,दंतेवाड़ा के हरप्रसाद गावड़े,सुरेश कुमार और जगदलपुर के भोजराज ठाकुर शामिल है|

पूछताछ के दौरान बीजापुर जिला में पदस्थ सउनि संतोष बघेल व रमेश अगनपल्ली का भी घटना में संलिपत्ता होना पाये जाने व साक्ष्य सबूत मिलने पर उक्त अधिकारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पूछताछ के आधार व संकलित साक्ष्य के आधार पर प्रकरण मेे सम्मलित अन्य व्यक्तियों के विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जावेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.