महिला नक्सली आत्महत्या: एसपी-सोनी सोरी में बहस, शव नहीं लिया

0 22

दंतेवाड़ा| पूर्व महिला नक्सली पांडे कवासी आत्महत्या मामले में जहाँ आज एसपी दंतेवाड़ा और समाजसेवी सोनी सोरी के बीच जमकर बहस हुई| सोनी सोरी ने कई आरोप लगेट इसके लिए एस पी को जिम्मेदार माना|

सोनी सोरी का कहना था कि पांडे कवासी आत्महत्या नहीं कर सकती यह हत्या का मामला हो सकता है| वहीँ मृतिका का शव लेने से परिजनों ने भी इंकार कर दिया है|

एसपी डॉ अभिषेक पल्लव और सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी के बीच हुई बहस का वीडियो जमकर वायरल भी हो रहा  है|

लोन वर्राटू के तहत आत्मसमर्पण करने वाली महिला नक्सली पांडे कवासी के पुलिस लाइन में आत्महत्या करने के बाद अब अभियान पर गाँव वालों ने सवाल भी उठाना शुरू कर दिया है|

पूर्व महिला नक्सली पांडे कवासी ने 19 फरवरी को ही उसने अपने अन्य पांच इनामी नक्सली साथियों के साथ लोन वर्राटू योजना से प्रेरित होकर आत्मसमर्पण किया था| आत्मसमर्पण के पांचवें दिन ही दंतेवाड़ा पुलिस लाइन कारली स्थित ट्रांजिट बैरक के बाथरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली|

दंतेवाड़ा पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम कराया लेकिन अब मृतिका के परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया है|

उधर आज पोस्टमार्टम रूम पहुँची समाजसेविका ने इसे आत्महत्या नहीं हत्या करार दिया है|

इस मामले को लेकर एसपी दंतेवाड़ा डॉ अभिषेक पल्लव और सोनी सोरी के बीच तीखी बहस भी हुई| सोनी सोरी ने सीधे आरोप लगाया कि महिला नक्सली आत्महत्या नहीं कर सकती इसके जिम्मेदार  एसपी दंतेवाड़ा है| उन्होंने कहा कि पुलिस अधीक्षक आदिवासियों पर आवश्यक दवाब बना रहे हैं|

उधर एसपी डॉ पल्लव का कहना है कि पांडे कवासी पर गाँव वाले वापस आने का दबाव बना रहे थे| उसकी शादी जबरन किसी की जा रही थी यही कारण आत्महत्या की हो सकती है|

अभियान के तहत जितने लोगों ने भी समर्पण किया है उनके परिजनों पर नक्सली दबाव बना रहे हैं  और मृतिका वापस संगठन में नहीं जाना चाहती थी यह भी कारण हो सकता है|

सोनी सोरी के आरोपों पर एसपी ने कहा कि उनके आरोपों की भी जांच होगी|

 

फिलहाल मामले को लेकर सोनी सोरी ने कहा हैं कि जबतक जाँच पूरी नहीं होगी| महिला शव को गाँव नहीं  ले जाया जायेगा|

Leave A Reply

Your email address will not be published.