कोरोना : बारनवापारा अभ्यारण्य में सरकारी निर्देशों को ठेंगा

बारनवापारा अभ्यारण्य के पर्यटक ग्राम में कोरोना महामारी में सरकारी निर्देशों  को ठेंगा दिखाते हुए हजार की भीड़ को बुलाने टेंट शामियानों से सजावट का कार्य चल रहा है। वहां  लगा रहे टेंट के एक कर्मी ने बताया कि एक शादी समारोह हेतु उक्त तैयारी की जा रही है कैटरर कंपनी ने 1000 लोगों के खाने की व्यवस्था हेतु  60 लोगो का स्टाफ बार में मौजूद रहकर तैयारी कर रहा है।

0 159

- Advertisement -

पिथौरा|  बारनवापारा अभ्यारण्य के पर्यटक ग्राम में कोरोना महामारी में सरकारी निर्देशों  को ठेंगा दिखाते हुए हजार की भीड़ को बुलाने टेंट शामियानों से सजावट का कार्य चल रहा है। वहां  लगा रहे टेंट के एक कर्मी ने बताया कि एक शादी समारोह हेतु उक्त तैयारी की जा रही है जबकि खाने की तैयारी कर रहे एक कैटरर के कार्यकर्ता ने बताया कि उनकी कंपनी ने 1000 लोगों  के खाने की व्यवस्था हेतु   60 लोगो का स्टाफ बार में  मौजूद रहकर तैयारी कर रहा है।

वैसे तो बारनवापारा अभ्यारण्य में पर्यटकों के मनोरंजन एवम रात्रि विश्राम हेतु बकायदा पर्यटक ग्राम बना कर वहां पर्यटकों के रहने की व्यवस्था की गई है। इस स्थान पर एक रेस्टोरेंट भी है जिसमे पर्यटक गर्म भोजन का आनन्द लेते है।

परन्तु पर्यटकों हेतु हरा भरा रखा गया पर्यटक ग्राम शादी पार्टी जैसे आयोजनों हेतु भी उपयोग होगा ऐसा किसी ने सोचा भी नहीं  होगा | वर्तमान की बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच शासन की कोरोना गाइडलाइन को दरकिनार कर बार अभ्यारण्य के बीच हजारों लोगों की भीड़ के आयोजन होने से अब क्षेत्र के ग्रामीण भी दहशत में है।

 वन कर्मी कुछ कहना नहीं चाहते

बारनवापारा के वन अफसरों से इस सम्बन्ध में जानकारी लेने का प्रयास किया गया परन्तु कोई भी अफसर इस सम्बंध में बोलने की स्थिति में नहीं है जबकि कुछ ग्रामीणों ने बताया कि उक्त तैयारी प्रदेश स्तर के वरिष्ठ अफसरों के निर्देश पर हो रही है।

वन्य प्राणियों पर भी होगा असर

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच उक्त आयोजन बारनवापारा अभ्यारण्य के बीच होने से वन्य प्राणियों पर भी संक्रमण का खतरा मंडराता दिख रहा है।

 गार्डनिंग ध्वस्त

- Advertisement -

 

कोरोना पाबन्दियों के बीच पर्यटक ग्राम बारनवापारा में हजारों लोगों की पार्टी की हो रही युद्धतर कि तैयारी से पर्यटकों की सुविधा हेतु बनाये गए हरे भरे मैदान को करीब करीब नष्ट किया जा रहा है।जिनका खामियाजा वन विभाग को ही भुगतना होगा।

बता दें  cg छत्तीसगढ़ में  ऐसे जिले जहां  कोरोना पाजिटिव रेट 4 प्रतिशत या इससे अधिक है, वहां Night clamp down, नाइट क्लैम्प डाउन  के अलावा जहाँ जरुरी हो वहां  धारा 144 लगाया जा रहा है | सभी जिलों में जुलूसों, रैलियों, पब्लिक गैदरिंग, सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और खेल आयोजनों पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

विवाह एवं अंत्येष्टि कार्यक्रम में 200 से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति होने की दशा में जिला कलेक्टर की लिखित पूर्वानुमति अनिवार्य होगी।

कोरोना संक्रमण रोकने  छत्तीसगढ़ शासन ने अपने कर्मचारियों के लिए  Work From Home के आदेश जारी किये हैं  11 जनवरी से शासकीय कार्यालयों में 1 तिहाई उपस्थिति के आदेश दिए गये हैं | स्कूल-कालेज बंद कर दिए गए हैं |

deshdijital के लिए रजिंदर खनूजा की रिपोर्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.