लखनपुर सीतापुर में पास चावल अंबिकापुर में फेल-आरोप

लखनपुर सीतापुर में क्वालिटी इंस्पेक्टर द्वारा पास चावल अंबिकापुर में आकर फेल हो जा रहा है | सरगुजा जिला के राइस मिलर्स संचालकों ने जिले के दो क्वालिटी इंस्पेक्टर पर भेदभाव और जानबूझकर उन्हें परेशान करने का आरोप लगाते यह बात कही  है।

0 18

अम्बिकापुर । लखनपुर सीतापुर में क्वालिटी इंस्पेक्टर द्वारा पास चावल अंबिकापुर में आकर फेल हो जा रहा है | सरगुजा जिला के राइस मिलर्स संचालकों ने जिले के दो क्वालिटी इंस्पेक्टर पर भेदभाव और जानबूझकर उन्हें परेशान करने का आरोप लगाते यह बात कही  है।

अंबिकापुर मिलर ने मीडिया से शिकायत में बताया है कि क्वालिटी इस्पेक्टर के द्वारा जानबूझकर अच्छी क्वालिटी के चावल को भी फेल कर दिया जा रहा है। संचालकों का आरोप है कि जिस चावल को उक्त क्वालिटी इंस्पेक्टर के द्वारा लखनपुर सीतापुर में धड़ल्ले से ले लिया गया, उसी चावल को वही क्वालिटी इस्पेक्टर द्वारा अंबिकापुर में फेल कर दिया जा रहा है।

इसका कारण अवैध वसूली है या कुछ और यह तो स्पष्ट नहीं हो सका है, परंतु क्वालिटी इस्पेक्टर के द्वारा इस प्रकार से राइस मिलर को सिर्फ और सिर्फ परेशान किए जाने से कई सवाल भी खड़े होने शुरू हो गए हैं। राइस मिलरों ने इस परेशानी को देखते हुए उक्त क्वालिटी इंस्पेक्टरों के क्रियाकलापों पर प्रश्न चिन्ह लगाया है।

संचालकों का कहना है कि जिस क्वालिटी के चावल को क्वालिटी इस्पेक्टर द्वारा अंबिकापुर में फेल किया जा रहा है उसी चावल को लखनपुर-सीतापुर में बेधड़क लिया जा रहा है। कुछ चहेते मिलर का लखनपुर में गुणवत्ताविहीन चावल भी लिया जा रहा है। संचालकों ने चेतावनी दी है कि अगर स्थिति ऐसे ही रही तो आने वाले समय में बड़ा निर्णय लेंगे और इनके विरोध आंदोलन किया जाएगा।

- Advertisement -

बताया जाता है कि क्वालिटी इस्पेक्टर के इसी भेदभाव के चलते अंबिकापुर सेंटर में 28 दिसंबर से वर्तमान दिनांक तक चावल जमा नहीं हो पाया है। बताया जा रहा है कि 27 दिसंबर से पहले अंबिकापुर में योगेश गुप्ता क्वालिटी इस्पेक्टर थे इनके रहते अम्बिकापुर सेंटर में अच्छा चावल जमा हुआ।

उनकी जगह नए क्वालिटी इस्पेक्टर विशाल सिन्हा व आजाद टोप्पो जब से आए हैं चावल जमा नहीं हो रहा है। एक क्वालिटी इस्पेक्टर को 1 दिन में 15 पेपर बनाना होता है जिसमें 12 दिसंबर से आज तक सबसे ज्यादा चावल आजाद टोप्पो के द्वारा लखनपुर और सीतापुर में पास  किया गया।  वही क्वालिटी इंस्पेक्टर विशाल सिन्हा व आजाद टोप्पो के द्वारा अंबिकापुर में उसी चावल को फेल कर दिया जा रहा है।

चावल जमा नहीं होने की स्थिति में राइस मिलर्स काफी परेशान है। एक और जहां शासन की ओर से राइस मिलर्स के ऊपर समिति केंद्र से धान उठाकर मील में लाने का प्रेशर है वहीं क्वालिटी इस्पेक्टर द्वारा उनके चावल को जानबूझकर फेल कर दिए जाने से राइस मिलर्स काफी चिंतित हैं और उनमें काफी आक्रोश है।

नए-नए आए हैं अभी हस्तक्षेप करना ठीक नहीं-डीएम  

अंबिकापुर सेंटर में चावल जमा नहीं होने एवं क्वालिटी इस्पेक्टर द्वारा चावल खरीदी में भेदभाव के आरोप पर डीएम रमेश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि अभी क्वालिटी इस्पेक्टर नए नए आए हैं,अपने हिसाब से काम कर रहे हैं,अभी हस्तक्षेप करना ठीक नहीं। तीन-चार दिन और देख रहे हैं कि किस हिसाब से काम करते हैं। हमारे पास 3 क्वालिटी इस्पेक्टर हैं| तीनों को अलग-अलग गोदाम दे दिए गए हैं कल से चावल खरीदी में तेजी आएगी। लखनपुर में गुणवत्ताविहीन चावल खरीदने को लेकर डीएम ने कहा कि मैं दिखवा लिया हूं क्वालिटी ठीक है रिपोर्ट मुख्यालय भेजूंगा।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.