बाबा कालीचरण खजुराहो से गिरफ़्तार

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित ‘धर्म संसद’ में, बापू को गाली देनेवाला बाबा  कालीचरण को रायपुर पुलिस ने एमपी के बलाघाट  खजुराहो से गिरफ़्तार किये जाने की खबर है|

0 32

- Advertisement -

रायपुर | छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित ‘धर्म संसद’ में, बापू को गाली देनेवाला बाबा  कालीचरण को रायपुर पुलिस ने एमपी के बलाघाट  खजुराहो से गिरफ़्तार किये जाने की खबर है| कांग्रेस ने अपने ट्विटर पर भी जानकारी साझा की है | सोशल मीडिया  पर कई पत्रकारों ने भी यह जानकारी साझा की है | | छत्तीसगढ़ पुलिस कालीचरण को रायपुर ला रही है |

बता दें देश के कई राज्यों में बापू को गाली देनेवाले बाबा कालीचरण के खिलाफ मामला दर्ज हो रहा है | रायपुर और महाराष्ट्र के अकोला में FIR दर्ज होने के बाद पुणे में भी मामला दर्ज हुआ है |

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक  पुणे पुलिस ने कालीचरण, मिलिंद एकबोते, नंदकिशोर एकबोते तथा तीन अन्य लोगों की शिकायत के बाद साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने, राष्ट्रपिता के अपमान आदि के मामले में FIR दर्ज की है।

इसे भी पढ़ें : धर्म संसद में कालीचरण ने दी गाँधी को गाली, विरोध में महंत रामसुंदर दास ने मंच छोड़ा

बाबा कालीचरण  ने 26 दिसंबर को रायपुर में आयोजित धर्म संसद  में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के लिए अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए भड़काऊ भाषण दिया था। बवाल की आंशका होते ही कालीचरण छत्तीसगढ़ से भाग गया। इसके बाद देश भर में बवाल मचा |

- Advertisement -

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के कड़े रुख को देखते पुलिस ने तुरंत कार्रवाई शुरू कर दी | छत्तीसगढ़ पुलिस की कई टीमें कालीचरण को पकड़ने के लिए रवाना की |

भूपेश बघेल ने बाबा कालीचरण  पर निशाना साधते हुए कहा कि यह धरती शांति का है, प्रेम का है, भाईचारे का है, गुरु घासीदास की धरती है| जहां उत्तेजक बातें, अहिंसात्मक बातें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी|

राष्ट्रपिता के बारे में इस तरह की बातें कहना निश्चित रूप से यह दर्शाता है कि उनकी मानसिक स्थिति क्या है| इसकी जितनी निंदा की जाए कम है|

प्रशासन की ओर से जितने कड़े से कड़ा कदम हो सकता है उठाया जाएगा| विधि सम्मत कार्रवाई होगी| समाज में जहर घोलने की कोशिश करेंगे तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी| एफआईआर दर्ज हो गई है|

वहीँ FIR  दर्ज होने के बाद भी बाबा कालीचरण ने एक वीडियो जारी कर चुनौती दी कि वह अपने कहे पर कायम है | वह हर बार गांधी जी की आलोचना करेगा और नाथूराम गोड़से को नमस्कार करेगा ।

इस विवाद के बाद छत्तीसगढ़ की राजनीति में भी हलचल हो गई है। जहाँ सीएम  भूपेश बघेल ने बाबा को समर्पण करने की  चेतावनी दी| वहीँ भाजपा आयोजकों पर भी कार्रवाई करने की बात कही |

Leave A Reply

Your email address will not be published.