शिया नेता वसीम रिजवी हिन्दू बने

शिया नेता वसीम रिजवी इस्लाम छोड़ हिन्दू बने | आज गाजियाबाद में यति नरसिंहानंद सरस्वती ने सनातन धर्म में उनकी वापसी करवाई।

0 24

- Advertisement -

गाजियाबाद| शिया नेता वसीम रिजवी इस्लाम छोड़ हिन्दू बने | आज गाजियाबाद में यति नरसिंहानंद सरस्वती ने सनातन धर्म में उनकी वापसी करवाई। वसीम रिजवी ने कहा कि-‘मुझे इस्लाम से बाहर कर दिया गया है, हमारे सिर पर हर शुक्रवार को ईनाम बढ़ा दिया जाता है, आज मैं सनातन धर्म अपना रहा हूं.| अब उनका नाम हरबीर नारायण सिंह त्यागी होगा |
शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रहे वसीम रिजवी ने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया है| उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जन्मे वसीम रिजवी   उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद गिरि से अपना धर्म परिवर्तन करवाया। इस दौरान डासना मंदिर में कई अनुष्ठान हुए।
वसीम रिजवी के  धर्म  परिवर्तन से राजनीति में हलचल मच गई है।  इसे अपनी राजनीतिक स्थिति मजबूत करने के लिए मुस्लिम विरोध का सहारा लिया बताया जा रहा है |

- Advertisement -

बता दे उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी को कथित तौर पर कुरान से छंदों को हटाने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर करने के लिए मुसलमानों से जान से मारने की धमकी मिली है, जिस पर उनका आरोप है कि वे “हिंसा सिखाते हैं”।
रिजवी ने मुहम्मद नामक एक पुस्तक का विमोचन भी किया, जिसमें पैगंबर मुहम्मद को खराब रोशनी में चित्रित किया गया है। इन विवादों और धमकियों के बाद, रिज़वी ने हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार दाह संस्कार करने की इच्छा व्यक्त करते हुए खुद को रिकॉर्ड किया है और दफन नहीं किया है। एक वीडियो में, रिज़वी ने उल्लेख किया कि उनका शरीर उनके हिंदू मित्र, डासना मंदिर के महंत नरसिम्हा नंदा सरस्वती को सौंप दिया जाना चाहिए, और उन्हें   चिता को जलाना चाहिए।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.