Browsing Category

अतिथि लेखक

सेवा एवं कृषि क्षेत्र को छोड़कर बाकि कोर सेक्टर्स के प्रदर्शन ने किया निराश 

सेवा क्षेत्र एवं कृषि को छोड़कर विनिर्माण, व्यापार, होटल, खनन, बिजली-गैस, निर्माण आदि सभी मुख्य कोर सेक्टर्स में अर्थव्यवस्था की हालत वित्तीय वर्ष 2021-22 की तुलना में 2022-23 की पहली…
Read More...

दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना भारत लेकिन चुनौतियां जस की तस

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भारत एक बार फिर दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है. 2021 में 855 अरब डॉलर के साथ भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की टॉप…
Read More...

बैंकों के निजीकरण से अर्थव्यवस्था में मुश्किलें बढ़ेंगी

बैंकिंग सेक्टर में लगातार बढ़ते निजीकरण संबंधी सरकार की नीतियों को लेकर केन्द्रीय बैंक यानि रिर्जव बैंक ऑफ इंडिया के डिप्टी गर्वनर ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको के बड़े पैमाने पर निजीकरण…
Read More...

अमृत महोत्सव : क्या ? कैसे ? किसके लिए ?

वाकई! लोकतंत्र सचमुच सो रहा है। यक्ष प्रश्न है। शायद! लोकतंत्र जागता रहता तो आज राजनीतिक पार्टियां लगातार जनता को बेवकूफ बनाती नहीं रहतीं। लोकतंत्र जागते रहता तो राजनीतिक दलों के नेतागण…
Read More...

कौन असली छत्तीसगढ़िया, कांग्रेस-भाजपा के आरोप-प्रत्यारोप में कितना दम?

क्या राज्य में छत्तीसगढ़ियों के सम्मान को लेकर सियासत का नया दौर आरंभ हो चुका है ? छत्तीसगढ़ियों का असली हितैषी होने को लेकर सियासत का जो नया दौर चलने लगा है, यह 2023 के विधानसभा में…
Read More...

छत्तीसगढ़: सिंहदेव के खिलाफ विधायकों का पत्र कितना रंग लायेगा ?

छत्तीसगढ़ के अंदरूनी घमासान से कांग्रेस एक बार फिर बैकफुट दिखती है। बहरहाल देखना दिलचस्प हो सकता है कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस और सरकार इस प्रकरण का किस तरह समाधान निकालते हैं ? इस घमासान से…
Read More...

बोरे-बासी’ : एक नया छत्तीसगढ़िया जुमला

राज्य में एक महत्वपूर्णं खबर चल रही है कि सरकार के नये-नवेले विधायकों का रिपोर्ट कार्ड बहुत खराब यानि बद से बदतर है। इस समय यदि राज्य में चुनाव कराये जाये तो बमुश्किल 25-30 सत्तारूढ़…
Read More...

परसा कोल खदान : कुछ सवाल जिस पर विचार जरूर करियेगा

यदि आपको यह लगता है कि यह समस्या सिर्फ विकास खंड उदयपुर के कोल प्रभावित ग्रामीणों की है तो आप गलत है। इसका प्रभाव हर उस व्यक्ति पर पड़ेगा जो जीवन में सांस लेना चाहता है पर्यावरण ही नहीं…
Read More...

एक लड़की: मस्जिद ने किया बेदख़ल, मंदिर में बॉयकॉट

हिन्दू-मुस्लिम सभी अध्यात्म और सूफ़ी रंग में थिरकते संत कुतुबुद्दीन बख़्तियार काकी के दरगाह पहुँचते हैं। मंदिर से लाई फूलों की चादर और पंखा से मज़ार पोशी होती है। ऐसे प्यारे मुल्क में जब…
Read More...

शिक्षा, शिक्षण संस्थानों के बाद परीक्षाएं राजनीति की भेंट चढ़ रहीं

शिक्षा, शिक्षण संस्थानों के बाद अब परीक्षाएं राजनीति की भेंट चढ़ने लगीं हैं।  स्कूली बच्चों की परीक्षाएं ऑफलाईन मोड में हो चुकी हैं, और ऑफलाईन मोड में हो रही हैं, इधर विविश्वविद्यालयों…
Read More...