देश भर में 3 घंटे चक्का जाम, प्रदर्शन  किसानों को दिया समर्थन

0 2

नई दिल्ली| देश भर में हजारों की संख्या में किसान, मजदूर, राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित कई महिलाओं ने सड़कों और राजमार्गो पर राष्ट्रव्यापी ‘चक्का जाम’ के आह्वान के तहत आंदोलन में भाग लिया और दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ एकजुटता व्यक्त की।

महाराष्ट्र में पालघर, ठाणे, रायगढ़, पुणे, कोल्हापुर, सोलापुर, नाशिक, अहमदनगर, उस्मानाबाद जैसी जगहों पर किसानों, कार्यकर्ताओं और राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने चक्का जाम में  भाग लिया।

यहाँ भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर, आंदोलन में सभी प्रमुख दलों जैसे शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस, वाम दलों के साथ-साथ अखिल भारतीय किसान सभा, स्वाभिमानी शेतकारी संगठन(एसएसएस), विदर्भ जन आंदोलन समिति और भारतीय किसान सेना जैसे किसान संगठनों की भागीदारी देखी गई।

इधर राजस्थान जयपुर में  तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर, धरना-स्थल पर इंटरनेट बंद करने एवं अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर परेशान किए जाने के खिलाफ किसानों ने शनिवार को 12 बजे से अपराह्न् तीन बजे तक तीन घंटों के लिए दिल्ली-जयपुर हाईवे समेत कई प्रमुख राजमार्गो पर यातायात अवरुद्ध किया।

जयपुर में सड़कों पर ट्रैफिक जाम करने के लिए ट्रैक्टरों का जमावड़ा किया गया, जबकि अलवर में सड़कों पर पत्थर व कंटीली झाड़ियां रखी गईं। कोटा में एक विशाल ट्रैक्टर रैली निकाली गई।
दिल्ली-जयपुर राजमार्ग को पूरी तरह ब्लॉक कर दिया गया था। सुबह 11 बजे से ही शाहजहांपुर बॉर्डर (अलवर) से गुजरने वाली सड़क को बंद कर दिया गया था।

कर्नाटक में राष्ट्रीय किसान यूनियनों के साथ एकजुटता दिखाते हुए कर्नाटक किसान संगठनों ने राष्ट्रीय राजमार्गों को अवरुद्ध करने में यहां आंशिक रूप से सफलता पाई।

गुरुग्राम में  संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने भी दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि गुरुग्राम के पालम विहार रोड पर कृष्णा चौक पर किया गया यह प्रदर्शन सांकेतिक रहा।

पालम विहार और दिल्ली की ओर जाने वाली गाड़ियों को रोकने के लिए प्रदर्शनकारी कृष्णा चौक पर भी बैठे। ट्रैफिक को संभालने और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए कई पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.