लेमन ग्रास कितनी उपयोगी

महर्षि चरक नेआयुर्वेद में कहा हैं की संसार की प्रत्येक वस्तु औषधि हैं इसके सिवाय कुछ नहीं .हम किसी के बारे में है जानकार उपेक्षा करते हैं पर वह औषधि हैं .

0 24

- Advertisement -

महर्षि चरक नेआयुर्वेद में कहा हैं की संसार की प्रत्येक वस्तु औषधि हैं इसके सिवाय कुछ नहीं .हम किसी के बारे में है जानकार उपेक्षा करते हैं पर वह औषधि हैं .

लेमन ग्रास का नाम सुनते ही आपके दिमाग में जरूर हरी-हरी घास की तस्वीर आई होगी। साथ ही आप सोच रहे होंगे कि भला घास भी क्या स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है? बस यहीं आप धोखा खा गए। आपको स्पष्ट कर दें कि हम यहां कोई ऐसी-वैसी घास नहीं, बल्कि लेमन ग्रास की बात कर रहे हैं। लेमन ग्रास के औषधीय गुण के बारे में सुन कर आप हैरान रह जाएंगे। यह सिर से लेकर पैर तक की कई बीमारियों से निजात दिलाने में सहायक हो सकती है।

लेमन ग्रास क्या है –
लेमन ग्रास एक औषधीय पौधा है, जो खासकर दक्षिण-पूर्वी एशिया में पाया जाता है। यह घास जैसा ही दिखता है, बस इसकी लंबाई आम घास से ज्यादा होती है। वहीं, इसकी महक नींबू जैसी होती है और इसका ज्यादातर उपयोग चाय में अदरक की तरह किया जाता है। लेमन ग्रास के औषधीय गुण जैसे एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी व एंटी-फंगल आदि आपको कई तरह की बीमारियों और संक्रमण से बचाते हैं । दवा के रूप में लेमन ग्रास तेल का भी उपयोग किया जाता है। इसमें लगभग 75 प्रतिशत सिट्रल पाया जाता है, जिसकी वजह से इसकी खुशबू भी नींबू जैसी होती है। अक्सर लेमन ग्रास तेल का उपयोग सौंदर्य उत्पाद और पेय पदार्थों में भी किया जाता है

लेमन ग्रास के फायदे –

1. कोलेस्ट्रोल को करता है नियंत्रित
शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने से स्ट्रोक और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है । ऐसे में लेमन ग्रास के औषधीय गुण शरीर में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम कर सकते हैं और आपको इनसे बचा सकते हैं। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, लेमन ग्रास तेल के सेवन से रक्त में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम किया जा सकता है ।

2. पेट के लिए लेमन ग्रास टी
लेमन ग्रास के गुण आपकी पाचन शक्ति बढ़ाने में भी मदद कर सकते हैं । इसके अलावा, इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से बचाते हैं और पेट के अल्सर व पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं को रोकने का काम कर सकते हैं । यदि किसी को पाचन संबंधी परेशानी है तो वो लेमन ग्रास टी को डाइट में शामिल कर सकते हैं।

3. किडनी के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास में मूत्रवर्धक गुण होता है । इसका सेवन करने से आपको बार-बार पेशाब जाने की जरूरत हो सकती है, जो आपकी किडनी के लिए अच्छा है। इससे आपके शरीर के विषाक्त पदार्थ पेशाब के जरिए बाहर निकल जाएंगे और आपकी किडनी स्वस्थ रहेगी। इसके अलावा, पथरी की दवाइयों में भी मूत्रवर्धक गुण होते हैं, जो किडनी स्टोन को बाहर निकालने में सहायक भूमिका निभाते हैं ।

4. कैंसर के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास और लेमन ग्रास तेल में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर सेल्स को खत्म कर कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं । इसके अलावा, कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए आप लेमन ग्रास की चाय भी पी सकते हैं।

5. वजन कम करने के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास के मूत्रवर्धक गुण की वजह से यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है और यूरिन के जरिए विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है। माना जाता है कि डिटॉक्सिफिकेशन से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है ।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए
लेमन ग्रास के औषधीय गुण आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो आपको कई प्रकार के संक्रमण और बीमारियों से बचा सकते हैं। इसके अलावा, इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने का काम कर सकते हैं

7. नींद में लाभदायक
अगर आपको ठीक से नींद नहीं आ रही है, तो इस समस्या से आराम पाने के लिए आप लेमन ग्रास तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसमें सीडेटिव (Sedative) गुण होते हैं, जो आपको बेहतर नींद लेने में मदद करेंगे। आप चाहें तो लेमन ग्रास तेल की कुछ बूंदें डिफ्यूजर में डाल कर उससे अरोमाथेरेपी ले सकते हैं।

8. गठिया के लिए लेमन ग्रास
रूमेटाइड अर्थराइटिस ऐसी समस्या है, जिसमें जोड़ों में दर्द, सूजन और अकड़न आने लगती है। 30-60 साल की उम्र में ये समस्या होना आम है। अगर आप भी गठिया की समस्या से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास तेल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपको गठिया के लक्षणों से आराम दिलवा सकते हैं (। आराम पाने के लिए आप लेमन ग्रास तेल की कुछ बूंदों से प्रभावित जगह पर मसाज कर सकते हैं।

- Advertisement -

9. अवसाद के लिए लेमन ग्रास
अवसाद से लड़ने में भी लेमन ग्रास के फायदे देखे गए हैं। दरअसल, लेमन ग्रास में एंटी-डिप्रेसेंट गुण पाए जाते हैं, जो अवसाद (Depression) को दूर करने का काम कर सकते हैं

10. तंत्रिका तंत्र के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास के पोषक तत्व तंत्रिका तंत्र (Nervous System) के लिए लाभकारी हो सकते हैं। दरअसल, इसमें मैग्नीशियम पाया जाता है , जो न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग से बचा सकता है (15)। न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग में मस्तिष्क के न्यूरॉन्स नष्ट होने लगते हैं।

11. अस्थमा के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास के औषधीय गुण आपको एलर्जिक अस्थमा से बचा सकते हैं। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-एलर्जिक गुण होते हैं, जो संक्रमित कोशिकाओं को आपके फेफड़ों में घुसने से रोकते हैं और आपको एलर्जिक अस्थमा से बचाने में लाभदायक साबित हो सकते हैं ।

12. स्ट्रेस के लिए लेमन ग्रास
लेमन गार्स के गुण आपको स्ट्रेस से भी आराम दिला सकते हैं। असल में ये काम लेमन ग्रास में पाया जाने वाला मैग्नीशियम करता है। शोध में पाया गया है कि मैग्नीशियम की कमी तनाव से जुड़ी समस्याओं जैसे सिरदर्द, अनिद्रा, थकान, अति-भावनात्मकता व चिंता आदि हो सकती हैं । ऐसे में लेमन ग्रास का सेवन आपकी मदद कर सकता है, क्योंकि इसमें मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है । आप चाहें तो स्ट्रेस और चिंता को दूर करने के लिए लेमन ग्रास तेल से अरोमाथेरेपी भी ले सकते हैं ।

13. मधुमेह के लिए लेमन ग्रास
अगर आप मधुमेह से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास के गुण आपकी मदद कर सकते हैं। लेमन ग्रास और उसके फूलों को पारंपरिक रूप से मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किया जा रहा है। इसमें एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं, जो खाली पेट और खाने के बाद के ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में आपकी मदद कर सकते हैं ।

14. मुंहासों के लिए लेमन ग्रास
लेमन ग्रास के गुण आपको बेदाग और पिंपल-फ्री त्वचा पाने में मदद कर सकते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो पिम्पल और संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ते हैं और उन्हें जड़ से खत्म करते हैं । इसके अलावा, इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं और मुहांसों को बढ़ने से रोकते हैं ।

लेमन ग्रास के पौष्टिक तत्व –
पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी 70.58 ग्राम ,ऊर्जा 99 कैलोरी प्रोटीन 1.82 ग्राम फैट 0.49 ग्राम कार्बोहाइड्रेट 25.31 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम 65 मिलीग्राम आयरन 8.17 मिलीग्राम मैग्नीशियम 60 मिलीग्राम फास्फोरस 101 मिलीग्राम
पोटैशियम 723 मिलीग्राम, सोडियम 6 मिलीग्राम, जिंक 2.23 मिलीग्राम ,कॉपर 0.266 मिलीग्राम, मैंगनीज 5.224 मिलीग्राम
सिलेनियम 0.7 माइक्रोग्राम
विटामिन
विटामिन सी 2.6 मिलीग्राम थियामिन 0.065 मिलीग्राम राइबोफ्लेविन 0.135 मिलीग्राम नियासिन 1.101 मिलीग्राम
पैंटोथैनिक एसिड 0.050 मिलीग्राम विटामिन बी-6 0.080 मिलीग्राम फोलेट डीएफई 75 माइक्रोग्राम
विटामिन ए आईयू 6 आईयू
लिपिड
फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड 0.119 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड 0.054 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड 0.170 ग्राम

लेमन ग्रास का उपयोग
लेमन ग्रास का स्वाद नींबू से मिलता-जुलता होता है। थाई और कॉन्टिनेंटल खाना बनाने में लेमन ग्रास का खास उपयोग किया जाता है। आप लेमन ग्रास का उपयोग कई तरह से कर सकते हैं, जैसे:
आप ग्रीन टी की तरह इसकी चाय बना सकते हैं। आप इसे चाय में अदरक/इलाइची की तरह भी उपयोग कर सकते हैं।
आप लेमन ग्रास का सूप बना सकते हैं। आप थोड़ी-सी लेमन ग्रास टमाटर के सूप में भी डाल सकते हैं।
लेमन ग्रास चाय में बर्फ डाल आप इसकी आइस्ड लेमन ग्रास टी बना सकते हैं।
लेमन ग्रास का पेस्ट बना कर आप सब्जियां बनाने में उपयोग कर सकते हैं।
आप खाने में नींबू के छिलके की जगह लेमन ग्रास का उपयोग कर सकते हैं।

कब उपयोग करें:
लेमन ग्रास चाय का सेवन आप सुबह और शाम कर सकते हैं।
दोपहर या रात के भोजन में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

कितना उपयोग करें:

चाय को कड़क बनाने के लिए आवश्यकतानुसार आप उसमें एक या दो लेमन ग्रास की पत्तियां डाल सकते हैं।
खाना बनाने में भी आप स्वादानुसार (8-10 पत्तियां) लेमन ग्रास डाल सकते हैं, लेकिन इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें।
लेमन ग्रास के नुकसान।
वैसे तो इसका सेवन सुरक्षित है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा का सेवन करने से लेमन ग्रास के नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।
चक्कर आना ,अधिक भूख लगना, मुंह सूखना ,अधिक पेशाब आना,थकान

लेमन ग्रास तेल के नुकसान :
रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ,त्वचा पर जलन और रैशेज आंखों में जाने से आंखों में जलन निगलने से पाचन तंत्र में समस्या
नोट: ध्यान रखें कि आप ताजी लेमन ग्रास का ही उपयोग करें। उपयोग करने से पहले इसके डंठल के नीचे का टुकड़ा काट दें और सूखी हुई पत्तियां हटा दें। आप लेमन ग्रास की पत्तियां चाय बनाने में और अंदर का पीला भाग खाना बनाने में उपयोग कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.