किसान आंदोलन की पहली वर्षगांठ, छत्तीसगढ़ में भी किसानों का प्रदर्शन

तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में शुरू हुए किसान आंदोलन की पहली वर्षगांठ पर आज देश भर में किसानों ने प्रदर्शन किया |आज छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी हजारों किसानों ने  प्रदर्शन  किया |

0 8

रायपुर | तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में शुरू हुए किसान आंदोलन की पहली वर्षगांठ पर आज देश भर में किसानों ने प्रदर्शन किया |आज छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी हजारों किसानों ने  प्रदर्शन  किया |

सरकार द्वारा तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के बाद अब वे फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी के लिए महापंचायत कर रहे हैं और नवंबर 29 को संसद मार्च निकलने की योजना है।

pics twiter सिन्धु बार्डर

- Advertisement -

आज छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी हजारों किसानों ने  प्रदर्शन  किया | गरियाबंद से कल ट्रैक्टर रैली निकली थी | यह रैली रायपुर के कमल विहार पहुंची, और ट्रैक्टर को छोड़कर इंडोर स्टेडियम के लिए रवाना हुए।

इस रैली में महासमुंद, दुर्ग, बिलासपुर, नया रायपुर, और आरंग के किसान शामिल हुए।  किसानों की मांग है कि तीन कृषि कानून वापस हुआ है एमएसपी की कानूनी गारंटी चाहिए। आंदोलन में जान गंवाए किसानों को शहीद का दर्जा एवं परिवर को पर्याप्त सहायता राशि दिया जाए।

केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त, और गिरफ्तार किया जाए एवं आंदोलनकारी किसानों पर दर्ज सभी मामले वापस लिए जाए। किसानों की लागत बढ़ाने वाले पेट्रोल, डीजल, खाद, बीज, कीटनाशक दवाओं आदि के दामों को आधा किया जाना चाहिए।

टिकरी बार्डर

Leave A Reply

Your email address will not be published.