कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय उदयपुर की बेटियों ने ताइक्वांडो में किया कमाल

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय उदयपुर की बेटियों ने ताइक्वांडो में किया कमाल. 5 से 7 जुलाई तक रायगढ़ में आयोजित प्रदेश स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में चार छात्राओ ने जीता गोल्ड व सिल्वर मेडल.

0 60

- Advertisement -

उदयपुर| कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय उदयपुर की बेटियों ने ताइक्वांडो में किया कमाल. 5 से 7 जुलाई तक रायगढ़ में आयोजित प्रदेश स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में चार छात्राओ ने जीता गोल्ड व सिल्वर मेडल.
5 से 7 जुलाई तक रायगढ़ में आयोजित प्रदेश स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय उदयपुर झिरमिट्टी की चार छात्राओं ने तीन गोल्ड व एक सिल्वर मेडल जीतकर विद्यालय सहित उदयपुर सरगुजा का नाम रोशन किया है. मेडल जितने वाली छात्राओं में कुमारी कीर्ति सिंह (गोल्ड मेडल), कुमारी निशा लकड़ा (गोल्ड मेडल) कुमारी आकांक्षा सिंह (गोल्ड मेडल) प्राप्त कर प्रथम स्थान एवं कुमारी स्तुति सिंह ने सिल्वर मेडल जीत कर द्वितीय स्थान प्राप्त किया. इनमें कीर्ति सिंह एवं स्तुति सिंह के पिताजी नहीं है, निशा और आकांक्षा के पिताजी किसान है. छात्राएं आर्थिक रूप से काफी कमजोर हैं.
आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण यह छात्राएं कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय उदयपुर में अध्यनरत हैं.
राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जगह बनाने वाले कस्तूरबा की ताइक्वांडो खिलाड़ियों ने प्रतियोगिता में विजय हासिल करने के बाद बगिया स्थित सीएम कैंप कार्यालय में मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती कौशल्या जी से सौजन्य मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने खिलाड़ियों का उत्साह वर्धन करते हुए आगे हर संभव सहायता उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया.


जिले के ताइक्वांडो खिलाड़ी लगातार अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर रहे हैं. जिले के नाम कई मेडल कर चुके हैं. सरगुजा कलेक्टर माननीय भोस्कर विलास संदीपन जी कस्तूरबा की छात्राओं का हमेशा मदद करते हैं. छात्राएं आगे बढ़ पाए इसलिए उन्होंने बच्चों को शिक्षा, खेल, सांस्कृतिक एवं अन्य क्षेत्र में ट्रेनिंग सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं ताकि कस्तूरबा की छात्राएं अपने जीवन में और आगे बढ़ पाए.
इन छात्राओं को जिला मिशन समन्वयक रविशंकर तिवारी, संस्था प्रमुख श्रीमती प्रमिला सरोजिनी लकड़ा, कोच राधेश्याम जी ने हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं.

- Advertisement -

खिलाड़ियों को कस्तूरबा में मिल रही है सभी सुविधाएं
यह छात्राएं कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय नहीं पहुंची होती तो शायद उनकी प्रतिभा को नहीं निखारा जा सकता था, छात्राएं आर्थिक रूप से कमजोर है, छात्राओं को कस्तूरबा में पढ़ने लिखने के साथ साथ रहने और खाने सहित अन्य सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है जिससे यह सभी निश्चिंत होकर पढ़ाई के साथ अपनी प्रतिभा को निखार रहीं हैं.
इन्हें आगे बढ़ने में हॉस्टल अधीक्षिका श्रीमती प्रमिला सरोजिनी लकड़ा और अन्य शिक्षिकाएं उनके अभिभावकों की तर्ज पर उनका साथ दे रहीं है.

deshdigital के लिए क्रांति कुमार रावत

Leave A Reply

Your email address will not be published.