कोरोना जांच के लिए सभी शहरों में बनेंगे एंटीजन टेस्टिंग सेंटर

0 1

रांची| झारखंड में संक्रमितों की त्वरित पहचान कर उनका उपचार सुनिश्चित कराने के लिए जांच की गति और तेज की जाएगी। इसके लिए राज्य के सभी शहरों में स्थायी एंटीजन जांच केंद्रों की स्थापना की जाएगी। शहर के हिसाब से जांच केंद्रों की संख्या कम-से-कम 2 से 20 तक होगी। सबसे बड़ी बात यह कि ये सभी जांच केंद्र सुबह 7 बजे से रात के 10 बजे तक संचालित किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने राज्य के सभी उपायुक्त, नगर आयुक्त, कार्यपालक पदाधिकार व विशेष कार्यपालक पदाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी किया है।

अपने पत्र में अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि कोविड महामारी के प्रसार के मद्देनजर जांच का दायरा बढ़ाना आवश्यक है। साथ ही मांग और आवश्यकता आधारित सहज सुलभ कोविड जांच की सुविधा उपलब्ध कराना जरूरी है। इसी उद्देश्य से सभी शहरों में रैपिड एंटीजन टेस्ट बूथ स्थापित किए जाने की आवश्यकता है। इसके लिए उन्होंने सभी नगर निगम, नगर पर्षद और नगर पंचायतों में अविलंब रैपिड एंटिजन बूथ स्थापित करने का निर्देश दिया है।

अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि रांची, पूर्वी सिंहभूम और धनबाद जिले के नगर निगम क्षेत्रों में कम-से-कम 20 रैपिड एंटीजन जांच केंद्रों की स्थापना की जाए। शेष प्रत्येक नगर निगम क्षेत्र में कम-से-कम 10, नगर पर्षद क्षेत्र में कम-से-कम 5 और नगर पंचायत क्षेत्र में कम-से-कम 2 बूथ की स्थापना की जाए। अपर मुख्य सचिव ने समुचित स्थान पर जांच केंद्रों की स्थापना करते हुए वहां नगर निकाय द्वारा नियमित सफाई व सेनेटाईजेशन की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। साथ ही उपायुक्तों को केंद्र के लिए जांच दल एवं आवश्यक संख्या में जांच किट की उपलब्धता सुनिश्चित करने की हिदायत दी है।

राज्य में फिहलाल सामान्य लोगों के लिए रात में जांच की सुविधा उपलब्ध नहीं है। विशेष जांच केंद्रों पर जहां शाम पांच बजे तक ही सैंपल कलेक्शन की व्यवस्था है। वहीं अस्पतालों में जरूरतमंद मरीजों की रात के समय जांच की जाती है। लेकिन, नए केंद्रों का संचालन प्रतिदिन सुबह 7:00 बजे से रात के 10:00 बजे तक किया जाएगा। अपर मुख्य सचिव ने इसके लिए सिविल सर्जन तथा आईडीएसपी कार्यालय से समन्वय स्थापित करते हुए समुचित संख्या में प्रशिक्षित एवं सक्षम एमपीडब्ल्यू/लैब टेकनीशियन के माध्यम से एंटिजेन बूथ को स्थापित करते हुए जांच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.