टूलकिट मामले में संबित पात्रा को छत्तीसगढ़ पुलिस की नोटिस  

कथित 'टूलकिट' मामले पर फर्जी खबरें फैलाने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा को नोटिस जारी किया है| पात्रा को 23 मई शाम 4 बजे   तक खुद रायपुर के सिविल लाइंस थाने में  पहुंचने  या वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश होने को कहा है। इधर संबित पात्रा ने मेल कर 7 दिनों का वक्त माँगा है|

0 6

रायपुर| कथित ‘टूलकिट’ मामले पर फर्जी खबरें फैलाने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा को नोटिस जारी किया है| पात्रा को 23 मई शाम 4 बजे   तक खुद रायपुर के सिविल लाइंस थाने में  पहुंचने  या वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश होने को कहा है। इधर संबित पात्रा ने मेल कर 7 दिनों का वक्त माँगा है|

 छत्तीसगढ़ पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा को कथित तौर पर ‘टूलकिट’ मुद्दे पर फर्जी खबरें फैलाने के लिए नोटिस जारी किया है। छत्तीसगढ़ पुलिस ने पात्रा को 23 मई को शाम 4 बजे रायपुर के सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट करने को कहा ।

शाम तक  पुलिस संबित पात्रा के आने या वीडियो कॉल का इंतजार करती रही। मगर न संबित आए न उनका वीडियो कॉल। इसके बाद पुलिस को संबित पात्रा की तरफ से एक मेल भेजा गया है। इस मेल पर पात्रा ने रायपुर पुलिस से 7 दिनों का वक्त मांगा है।

एसपी लखन पटले के मुताबिक हमें मेल मिला है। संबित पात्रा को आज का वक्त दिया गया था मगर उन्होंने समय मांगने के लिए मेल किया है। अब अगली पूछताछ कब होगी हम ये तय कर रहे हैं। फिलहाल तारीख तय नहीं है।

टूलकिट मामले में कथित रूप से फर्जी खबरें फैलाने के आरोप में रायपुर में छत्तीसगढ़ एनएसयूआई प्रमुख आकाश शर्मा ने आईपीसी के तहत शिकायत दर्ज कराई थी।

पात्रा को जारी नोटिस में छत्तीसगढ़ पुलिस ने उन्हें या तो फीजिकली या वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए थाने में पेश होने को कहा। पुलिस ने समन का जवाब नहीं देने पर पात्रा को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

इससे पहले, छत्तीसगढ़ पुलिस ने टूलकिट से संबंधित फर्जी खबरें फैलाने के आरोप में पूछताछ के लिए रमन सिंह को सोमवार 24 मई की दोपहर साढ़े 12 बजे घर पर ही रहने  एक नोटिस जारी किया था।

वैसे पुलिस ने सवाल भी पहले से लिखकर रमन सिंह को भेजे हैं। 9 तरह के निर्देश भी जारी किए गए हैं, जिनमें सबूत से छेड़छाड़ करने पर गिरफ्तार करने की बात भी लिखी है।

बता दें 18 मई को, भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कोविड महामारी के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि खराब करने के लिए टूलकिट का इस्तेमाल किया।

डॉक्टर रमन सिंह ने 18 मई को अपने ट्वीटर अकाउंट से कांग्रेस का कथित लेटर पोस्ट करते हुए दावा किया कि इसमें देश का माहौल खराब करने की तैयारी की प्लानिंग लिखी है।

रमन की तरफ से सोशल मीडिया पर लिखा गया कि कांग्रेस विदेशी मीडिया में देश को बदनाम करने कांग्रेस कुंभ का दुष्प्रचार और जलती लाशों की फोटो दिखाने का षड़यंत्र कर रही है।

अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पेज साझा करते हुए पात्रा ने कहा, “मित्रों, महामारी के दौरान जरूरतमंदों की मदद करने के लिए कांग्रेस के ‘टूलकिट’ को देखिए। आप खुद से कांग्रेस का एजेंडा पढ़िए।”

Leave A Reply

Your email address will not be published.