Corona- त्योहारों की आहट, भीड़-भाड़ जमा होने से पहले राज्य लगाएं रोक, केंद्र ने किया आगाह

महामारी कोरोना की दूसरी लहर अभी कुछ मंद पड़ी है और तीसरी लहर की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है ऐसे में कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है

0 20

- Advertisement -

नई दिल्ली । महामारी कोरोना की दूसरी लहर अभी कुछ मंद पड़ी है और तीसरी लहर की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है ऐसे में कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है वहीं त्योहारों के की आहट ने भी चिंता बढ़ा दी है। हालात के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है।

उन्होंने लिखित तौर पर कहा है कि स्थानीय पाबंदियां लगाने पर राज्य सरकार विचार करे ताकि आने वाले त्योहारों के मौके पर भीड़ या लोगों का समूह जमा न होने पाए। उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों में अभी भी रोज आने वाले कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है।

आईसीएमआर और एनसीडीसी का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि दोनों एजेंसियों की ओर से त्योहारों को लेकर लोगों की भीड़ जमा होने का अंदेशा जताया है जो सुपर स्प्रेडर इवेंट बन सकते हैं और कोरोना संक्रमण के मामले और अधिक तेजी से बढ़ेंगे।

- Advertisement -

पत्र में लिखा है, ‘इस आदेश के तहत आने वाले त्योहारों मुहर्रम (19 अगस्त), ओणम (21 अगस्त), जन्माष्टमी (30 अगस्त), गणेश चतुर्थी (10 सितंबर) और दुर्गा पूजा (5- 15 अक्टूबर 2021) आदि में लोगों की भीड़ के जमा होने की संभावना को देखते हुए सलाह दी गई है कि राज्यों में स्थानीय प्रतिबंध लागू किए जाए ताकि ऐसा न हो।’

स्वास्थ्य सचिव द्वारा लिखे गए इस पत्र में कोरोना महामारी की दूसरी लहर से सामना करने को लेकर राज्यों की सराहना भी की गई है। लिखा है, ‘देश में कोविड-19 की दूसरी लह र के दौरान आपका नेतृत्व सराहनीय है। पिछले माह हर दिन आने वाले नए मामलों में गिरावट देखी गई लेकिन कुछ राज्यों में अभी भी संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं।

इसे देखते हुए 29 जून को गृह मंत्रालय द्वारा आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत निर्देश जारी किया गया ताकि संक्रमण को रोकने के उपायों पर ध्यान दिया जाए। इसे ही अब लागू किया जा सकता है।’

बुधवार को भारत में 42,625 नए मामले दर्ज किए गए और 562 संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं 24 घंटे में 36,668 रिकवरी भी दर्ज किए गए। इसके बाद देश में संक्रमण के मामलों का आंकड़ा 3,17,69,132 हो गया जिसमें से 3,09,33,022 लोग अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए और 4,25,757 मौतें हो चुकी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.