ममीता मेहर लापता मामलाः महलिंग में निर्माणाधीन स्टेडियम से एक शव बरामद

ममीता मेहर लापता मामले में एक नया मोड़ सामना आया है। घटना में आज यानी मंगलवार को कालाहांडी जिले के महलिंग में एक निर्माणाधीन स्टेडियम में एक शव मिला। अंतिम रिपोर्ट आने तक मृतक की पहचान नहीं हो पाई थी। यह संदेह किया जा रहा है कि ममिता की हत्या कर उसे मौके पर ही दफना दिया गया था।

0 112

- Advertisement -

भवानीपटना| ममीता मेहर लापता मामले में एक नया मोड़ सामना आया है। घटना में आज यानी मंगलवार को कालाहांडी जिले के महलिंग में एक निर्माणाधीन स्टेडियम में एक शव मिला। अंतिम रिपोर्ट आने तक मृतक की पहचान नहीं हो पाई थी। यह संदेह किया जा रहा है कि ममिता की हत्या कर उसे मौके पर ही दफना दिया गया था। उधर ओडिशा पुलिस ने फरार मुख्य संदिग्ध गोबिंद साहू के ठिकाने की जानकारी के लिए 20,000 रुपये नकद इनाम की घोषणा की है ।

शव मिलने के बाद ममीता के परिजन मौके पर बुलाया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि शव की डीएनए जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा।

उल्लेखनीय है कि बलांगीर जिले के तुरकेला ब्लॉक के झरनी गांव की ममीता मेहर (24) कालाहांडी जिले के महालिंग में सनशाइन इंग्लिश मीडियम स्कूल में शिक्षिका के रूप में कार्यरत थीं। ममीता ने स्कूल के गर्ल्स हॉस्टल की वार्डन के रूप में भी काम किया। वह आठ अक्टूबर को लापता हो गई थी।

ममीता के लापता होने के बाद उसके परिजनों ने थाने में स्कूल की प्रबंध समिति के अध्यक्ष गोविंद साहू के नाम पर शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने प्राथमिकी के आधार पर साहू को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। उसे टिटलागढ़ पुलिस बैरक में रखा गया था।
हालांकि साहू 17 अक्टूबर की रात पुलिस हिरासत से फरार हो गया। साहू हाथ धोने के बहाने बाथरूम में गया और फिर वहां से भाग गया। बलांगीर के एसपी कुसालकर नितिन दगुडु ने ड्यूटी में लापरवाही के आरोप में तीन कांस्टेबलों को निलंबित कर दिया।

ममीता को कथित तौर पर साहू ने आधिकारिक काम के लिए स्कूल बुलाया था। उसे चंदोतारा आने के लिए कहा गया, जहां उसका इंतेजार आरोपी कार लेकर कर रहा था। ममता बस से चंदोतारा पहुंचीं लेकिन उसके बाद लापता हो गईं। उसका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ हो गया।

- Advertisement -

ममीता मेहर

ममीता के परिवार वालों ने आरोप लगाया कि साहू स्कूल की महिला कर्मचारियों का यौन उत्पीड़न करता और उन्हें उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करता। ममीता ने हाल ही में साहू को उसे बेनकाब करने और उसके अवैध मामलों को सामने लाने की चेतावनी दी थी। महिला के परिजन ने आरोप लगाया कि ममता के लापता होने के पीछे उसका ही हाथ है।

ममिता की एक सहकर्मी और उसके भाई के बीच बातचीत का एक ऑडियो क्लिप भी सामने आया है। क्लिप में, ममता की सहकर्मी को उसके भाई को स्कूल की महिला कर्मचारियों के यौन उत्पीड़न में साहू की संलिप्तता के बारे में सूचित करते हुए सुना जा सकता है। उसकी सहकर्मी उसके भाई को बता रही थी कि साहू ने उसके लापता होने से एक दिन पहले एक आधिकारिक बैठक के बहाने उसे बुलाया था।

ममता के भाई बंटी ने आरोप लगाया है कि साहू स्कूल में सेक्स रैकेट चला रहा था, जिसका उसकी बहन विरोध कर रही थी और उसे बेनकाब करने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि साहू ने उसे मार डाला या अपहरण कर लिया।

कांटाबंजी से कांग्रेस विधायक संतोष सिंह सलूजा ने मंत्री दिव्य शंकर मिश्रा के इस्तीफे की मांग की है। मिश्रा के साथ आरोपी की कई तस्वीरें सामने आई हैं। मंत्री शिक्षण संस्थान में एक समारोह में भी शामिल हुए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.