कोरोना को हराने के लिए केरल में शुरू सामूहिक टीकाकरण अभियान

केरल में कोरोना का कहर सबसे ज्याद देखने को मिल रहा है। कोविड-19 मामलों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए राज्य सरकार ने सोमवार से बड़े पैमाने पर टीकाकरण का अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

0 16

- Advertisement -

नई दिल्ली । केरल में कोरोना का कहर सबसे ज्याद देखने को मिल रहा है। कोविड-19 मामलों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए राज्य सरकार ने सोमवार से बड़े पैमाने पर टीकाकरण का अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के मुताबिक यह अभियान 9 से 31 अगस्त तक चलेगा। टीकाकरण अभियान में स्नातकोत्तर छात्रों, निम्न प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों और अंतिम वर्ष के छात्रों पर खास ध्यान दिया जाएगा।

इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों के लिए टीकाकरण की पहली खुराक 15 अगस्त तक पूरी कर ली जाएगी। कॉमरेडिटी वाले मरीजों को घर पर ही टीका लगाया जाएगा।

मुख्यमंत्री विजयन ने कहा था कि राज्य सरकार टीकों की 20 लाख खुराक खरीदेगी और उन्हें उसी दर पर निजी अस्पतालों को मुहैया कराएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सब इसलिए किया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग टीका लगवाएं।

- Advertisement -

उन्होंने वाणिज्यिक संस्थानों और सार्वजनिक संगठनों से स्थानीय लोगों के लिए टीकों की व्यवस्था करने का भी आग्रह किया। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने पिछले हफ्ते घोषणा की कि राज्य में 1.5 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड -19 वैक्सीन की पहली खुराक दी गई है, जो केरल की आबादी का 42.82 प्रतिशत है।

राज्य सरकार भी 11 अगस्त से नए और कड़े दिशा-निर्देशों को लागू करने जा रही है। नए दिशानिर्देशों के अनुसार, केवल वे लोग जिन्होंने टीके की कम से कम एक खुराक ली है या जिनके पास 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर नकारात्मक प्रमाण पत्र हैं।

दुकानों, बाजारों, बैंकों और पर्यटन स्थलों में प्रवेश कर सकते हैं। यह नियम राज्य में आने वाले श्रमिकों और आगंतुकों दोनों पर लागू होगा। रविवार को केरल में 18,607 मामले सामने आए, पिछले एक सप्ताह में यह पहली बार है

जब दैनिक मामलों की संख्या 20 हजार के नीचे आई है. राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सकारात्मकता दर 13.87 प्रतिशत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.