बिहार में अब सीआईडी भी दर्ज करेगी मामले, थाना खोलने का प्रस्ताव

अपराध अनुसंधान विभाग (सीआईडी) खुद मामले दर्ज करेगा और अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी होगी। जल्द उसे यह अधिकार मिल सकता है। सीआईडी के लिए थाना खोलने का प्रस्ताव है।

0 34

- Advertisement -

पटना| अपराध अनुसंधान विभाग (सीआईडी) खुद मामले दर्ज करेगा और अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी होगी। जल्द उसे यह अधिकार मिल सकता है। सीआईडी के लिए थाना खोलने का प्रस्ताव है। इस पर मुहर लगी तो बिहार पुलिस की अन्य एजेंसियों की तरह सीआईडी में भी एफआईआर दर्ज होगी।

- Advertisement -

सीआईडी अभी एफआईआर दर्ज नहीं कर सकती। इसकी वजह अपना थाना नहीं होना है। जिलों में दर्ज होनेवाले आपराधिक मामलों का अनुसंधान अपने जिम्मे लेने का उसे अधिकार है। सीआईडी किसी कांड का अनुसंधान अपने नियंत्रण में लेती है तो आईओ जिला पुलिस का ही होता है पर पर्यवेक्षण सीआईडी करती है। आईओ भी सीआईडी के नियंत्रण में रहता है।

देश के कुछ राज्यों में यह व्यवस्था पहले से है। ओडिशा और कर्नाटक जैसे राज्यों में सीआईडी को यह सुविधा उपलब्ध है। बिहार पुलिस के अधीन एटीएस, ईओयू और निगरानी अन्वेषण ब्यूरो का भी अपना थाना है। यदि सीआईडी के लिए थाना खोलने की मंजूरी मिलती है तो उसके द्वारा भी एफआईआर दर्ज कर कांडों का अनुसंधान किया जा सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.