छत्तीसगढ़: भाजपा 2023 के चुनाव की तैयारियों में जुटी, बस्तर में चिंतन शिविर

छत्तीसगढ़ में एक ओर जहाँ कांग्रेस में खेमेबंदी उभर कर सामने आई है वहीँ भाजपा वर्ष 2023 के चुनाव की तैयारियों में अभी से जुट गई है | आज से बस्तर में तीन दिनों के चिंतन शिविर में कई नामी नेता जुट रहे हैं

0 128

- Advertisement -

रायपुर | छत्तीसगढ़ में एक ओर जहाँ कांग्रेस में खेमेबंदी उभर कर सामने आई है वहीँ भाजपा वर्ष 2023 के चुनाव की तैयारियों में अभी से जुट गई है | आज से बस्तर में तीन दिनों के चिंतन शिविर में कई नामी नेता जुट रहे हैं | चर्चा है कि बस्तर की  गंवाई 12 सीटों पर फिर से काबिज होने की रणनीति तैयार होगी | इसके अलावा संगठन से जुड़े कई अहम फैसले भी लिए जा सकते हैं | शिविर आज मंगलवार शाम लगभग चार बजे शुरू होगा तथा गुरुवार  शाम को इसका समापन होगा।​

छत्तीसगढ़ में मुख्य विपक्षी दल भाजपा के इस आयोजन को आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक कभी भाजपा का गढ रहे बस्तर में पुन: दबदबा बनाए रखने के लिए मजबूत  नेता की तलाश की जायेगी| आदिवासी नेता बलीराम कश्यप के निधन के बाद बस्तर में भाजपा का दबदबा समाप्त हो गया है।

जिला मुख्यालय जगदलपुर में आयोजित इस चिंतन शिविर में पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह, राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बी एल संतोष, राष्ट्रीय महासचिव और छत्तीसगढ़ प्रभारी डी पुरंदेश्वरी, सह प्रभारी नितिन नवीन, राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव (संगठन) शिव प्रकाश, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, राज्य के पार्टी के सभी लोकसभा और राज्यसभा सदस्य, विधायक और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

- Advertisement -

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा रमन सिंह ने   बताया कि चिंतन शिविर में राज्य में आगामी ढाई वर्ष की कार्य योजना तैयार की जाएगी। इस दौरान छत्तीसगढ़ में पार्टी के आगामी कार्यों को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा।

डा सिंह से जब पूछा गया कि क्या यह वर्ष 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी की शुरुआत है, तो उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगले ढाई वर्ष में पार्टी जनता के बीच जाकर राज्य सरकार की असफलता से अवगत कराएगी।

बता दें छत्तीसगढ़ में वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी ने बस्तर क्षेत्र की 12 विधानसभा सीटों में से केवल दंतेवाड़ा सीट पर जीत हासिल की थी, लेकिन वर्ष 2019 में नक्सली हमले में दंतेवाड़ा क्षेत्र के विधायक भीमा मंडावी की मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में यह सीट कांग्रेस के पास चली गई थी। अब वर्ष  2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.