मोदी सरकार के खिलाफ अपने तेवरों को और धार देगा विपक्ष

पेगासस जासूसी और किसान आंदोलन को लेकर संसद में हंगामा जारी है। विपक्ष एकजुट होकर सरकार को घेर रहा है। तमाम कोशिशों के बावजूद सरकार गतिरोध तोड़ने में विफल रही है।

0 12

- Advertisement -

नई दिल्ली । पेगासस जासूसी और किसान आंदोलन को लेकर संसद में हंगामा जारी है। विपक्ष एकजुट होकर सरकार को घेर रहा है। तमाम कोशिशों के बावजूद सरकार गतिरोध तोड़ने में विफल रही है।

विपक्षी एकता को और मजबूत करने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज यानी मंगलवार को विपक्षी दलों के नेताओं को नाश्ते पर आमंत्रित किया है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि विपक्षी दलों के नेताओं को कांस्टीट्यूशन क्लब में आमंत्रित किया गया है।

विपक्ष के नेताओं को राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे की तरफ से निमंत्रण भेजा गया है। नाश्ते पर समान विचारधारा वाले तमाम दलों के नेताओं के बीच मॉनसून सत्र को लेकर भी चर्चा होगी। कांग्रेस की तरफ से तृणमूल कांग्रेस को भी न्योता भेजा गया है। पार्टी के एक नेता ने कहा कि टीएमसी शामिल होगी।

- Advertisement -

इसके साथ शिवसेना, डीएमके, लेफ्ट पार्टियां, राजद और सपा सहित कई पार्टियों को आमंत्रित किया गया है। नाश्ते पर होने वाली इस मुलाकात में लोकसभा और राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स के शामिल होने की उम्मीद है। मॉनसून सत्र में विपक्ष को एकजुट करने को लेकर राहुल गांधी काफी सक्रिय रहे हैं।

विपक्षी नेताओं को नाश्ते पर आमंत्रित करने से पहले वह विपक्षी दलों की बैठक में भी हिस्सा ले चुके हैं। विपक्षी दलों की बैठक के बाद उन्होंने विपक्षी नेताओं के साथ मीडिया से भी बात की थी। उन्होंने पेगासस के मुद्दे पर सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। नाश्ते पर मुलाकात के बाद विपक्ष दल मार्च करते हुए संसद भवन जा सकते हैं।

इसके साथ समानांतर संसद चलाने पर भी चर्चा हो सकती है। राहुल गांधी ने विपक्षी दलों के नेताओं को ऐसे वक्त चाय पर आमंत्रित किया है, जब पेगासस और किसान आंदोलन को लेकर संसद में गतिरोध बरकरार है। संसद में एक दिन भी पूरा कामकाज नहीं हो पाया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.