भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी छह करोड़ की लागत से बनी सड़क

छत्तीसगढ़ प्रदेश में सरकार ग्रामीण क्षेत्र को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए कई योजनाएं शुरु हैं। इसी क्रम में जिला मनेंद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर के ग्राम पंचायत बेलकामार में पीडब्ल्यूडी 6 करोड़ की लागत से पुलिया और सड़क बना रही है। लेकिन इन निर्माण कार्यों में जरा भी गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा है।

0 61

- Advertisement -

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश में सरकार ग्रामीण क्षेत्र को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए कई योजनाएं शुरु हैं। इसी क्रम में जिला मनेंद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर के ग्राम पंचायत बेलकामार में पीडब्ल्यूडी 6 करोड़ की लागत से पुलिया और सड़क बना रही है। लेकिन इन निर्माण कार्यों में जरा भी गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। पुलिया और सड़क निर्माण में जिस मटेरियल का इस्तेमाल किया जा रहा है,वो पैर की ठोकर से ही निकल रहा है। ऐसे में गाड़ियों की आवाजाही कितने दिन ये सड़क सहेगी कोई नहीं जानता।

- Advertisement -

ग्राम पंचायत बेलकामार के सरपंच और ग्रामीणों के मुताबिक निर्माण कार्य घटिया होने के साथ-साथ गुणवत्ताहीन भी है।जिला पंचायत अध्यक्ष रेणुका सिंह ने भी सड़क निर्माण की जांच की।जिसमें पाया कि निर्माण में किसी भी तरह की क्वालिटी नहीं रखी जा रही है। घटिया निर्माण की शिकायत जिला कलेक्टर और पीडब्ल्यूडी के उच्च अधिकारियों से की गई है।

 पीडब्ल्यूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू की संयुक्त बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष रेणुका सिंह ने भी घटिया निर्माण की शिकायत की है। वहीं इस विषय पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जांच की बात कही है। इस बारे में जब पीडब्ल्यूडी के विभाग के अधिकारियों से बात की गई तो अधिकारी भी कोई ठोस जवाब नहीं दे पा रहे हैं और तो और अफसर लीपापोती करने में लगे हुए हैं, वहीं मीडिया में मामला सामने आने के बाद अब देखने वाली बात होगी कि गुणवत्ताहीन काम के खिलाफ विभाग क्या कार्रवाई करता है।क्योंकि मंत्री ने इस मामले में संज्ञान लिया है और कार्रवाई की बात कही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.