हॉकी के जादूगर मशहूर ध्यानचंद को भारत रत्न देने में देरी नहीं करना चाहिए: मीररंजन नेगी

भारत के पूर्व हॉकी गोलकीपर मीररंजन नेगी ने देश के सर्वोच्च खेल सम्मान का नाम राजीव गांधी खेल रत्न से बदलकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी घोषणा का स्वागत किया।

0 24

- Advertisement -

मध्यप्रदेश । भारत के पूर्व हॉकी गोलकीपर मीररंजन नेगी ने देश के सर्वोच्च खेल सम्मान का नाम राजीव गांधी खेल रत्न से बदलकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी घोषणा का स्वागत किया।

हालांकि, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ‘‘हॉकी के जादूगर के नाम से मशहूर ध्यानचंद को भारत रत्न से मरणोपरांत नवाजे जाने में देर नहीं होनी चाहिए। नेगी ने कहा, खेल रत्न सम्मान का नाम मेजर ध्यानचंद पर किया जाना देश के हॉकी क्षेत्र के लिए मोदी सरकार का बहुत बड़ा कदम है।

अब अगर ध्यानचंद को (मरणोपरांत) भारत रत्न से भी नवाज दिया जाए,तब सोने पर सुहागा हो जाएगा और इस काम में अब बिल्कुल भी देर नहीं की जानी चाहिए।

- Advertisement -

पूर्व गोलकीपर ने कहा, तोक्यो ओलंपिक में महिला और पुरुष, दोनों वर्गों में भारतीय हॉकी टीमों के जुझारू और शानदार प्रदर्शन से खेल के पक्ष में देशभर में बहुत अच्छा माहौल बन गया है। सरकार को ध्यानचंद को भारत रत्न प्रदान करने का इससे अच्छा मौका दोबारा नहीं मिलेगा।

इससे पूरी दुनिया में भारतीय हॉकी का मान बढ़ेगा। ऐतिहासिक प्रदर्शन कर पहली बार ओलंपिक सेमीफाइनल तक पहुंची भारतीय महिला हॉकी टीम के ब्रिटेन से 3-4 से हारकर कांस्य पदक से चूकने पर नेगी ने कहा कि तोक्यो ओलंपिक के इस मैच में भारतीय टीम को भले ही पराजय का मुंह देखना पड़ा हो।

लेकिन उसने अपने जुझारूपन से पूरे देश का दिल जीता है। नेगी ने कहा, रियो के पिछले ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली ब्रिटेन की महिला हॉकी टीम में बेहद अनुभवी खिलाड़ी हैं।

लेकिन भारतीय महिला टीम ने शुरुआत में दो गोल से पिछड़ने के बावजूद मुकाबले में शानदार वापसी कर सच्चे खिलाड़ियों के अदम्य जज्बे को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि तोक्यो ओलंपिक में भारत की नुमाइंदगी करने वाली महिला और पुरुष टीमों के खिलाड़ियों के स्वागत व सम्मान में पूरे देश में कार्यक्रम आयोजित किए जाने चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.