पहलवान बजरंग पुनिया ने दिलाया भारत को छठा पदक

पहलवान बजरंग पुनिया ने आज टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुष फ्रीस्टाइल के 65 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता। उन्होंने कजाकिस्तान के दौलत नियाजबेकोव को 8-0 से हराया। यह टोक्यो ओलंपिक में भारत का छठा पदक था।

0 17

- Advertisement -

नई दिल्ली |पहलवान बजरंग पुनिया ने आज टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुष फ्रीस्टाइल के 65 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता। उन्होंने कांस्य पदक के मैच में कजाकिस्तान के दौलत नियाजबेकोव को 8-0 से हराया। यह टोक्यो ओलंपिक में भारत का छठा पदक था। राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी, खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर और देश के हर कोने से लोगों ने बजरंग पुनिया को उनकी उपलब्धि के लिए बधाई दी।

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने पहलवान को बधाई दी और कहा कि हर भारतीय उसकी सफलता की खुशी को साझा करता है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “भारतीय कुश्ती के लिए एक विशेष क्षण! बजरंग पुनिया को #टोक्यो2020 में कांस्य पदक जीतने पर बधाई। आपने वर्षों से अथक प्रयासों, निरंतरता और तप के साथ खुद को एक उत्कृष्ट पहलवान के रूप में प्रतिष्ठित किया है। आपकी सफलता की खुशी को हर भारतीय साझा करता है!”

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने बजरंग को उनके प्रदर्शन के लिए बधाई दी और ट्वीट किया, “# टोक्यो 2020 से सुखद खबर! बजरंग पुनिया आप शानदार ढंग से लड़े। आपकी उपलब्धि के लिए आपको बधाई,  जिस पर हर भारतीय को गर्व और खुशी हो रही है।”

खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने अपने बधाई संदेश के साथ ट्विटर पर एक क्लिप साझा की जिसमें वह बजरंग पुनिया के जीत के क्षण को देखते नजर आ रहे हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “बजरंग के लिए कांस्य !!! आपने यह कर दिखाया! भारत इससे कितना रोमांचित है, यह शब्दों में नहीं बताया जा सकता! मुझे आप पर बहुत गर्व है, आपके वर्चस्वपूर्ण प्रदर्शन और शानदार फिनिश को देखकर बहुत अच्छा लगा! # टोक्यो 2020।”

बजरंग पुनिया- बजरंग पुनिया ने सात साल की उम्र में कुश्ती शुरू कर दी थी। वह हरियाणा राज्य के झज्जर जिले के खुदान गांव में एक ग्रामीण पृष्ठभूमि के परिवार से ताल्लुक रखते हैं। चूंकि बजरंग का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था, इसलिए उन्हें अपने शुरुआती दिनों में कई आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। लेकिन यह उनके मित्र और गुरु प्रसिद्ध पहलवान योगेश्वर दत्त थे जिन्होंने हमेशा उनका समर्थन किया।

व्यक्तिगत विवरण:

जन्म तिथि: 26 फरवरी, 1994

- Advertisement -

गृह स्थान: सोनीपत, हरियाणा

खेल: कुश्ती

प्रशिक्षण शिविर: साई एनआरसी सोनीपत

व्यक्तिगत कोच: एमजारियोस बेंटिनिडिस

राष्ट्रीय कोच: जगमंदर सिंह

उपलब्धियां

विश्व चैम्पियनशिप -1 रजत और 2 कांस्य पदक

एशियाई चैम्पियनशिप – 2 स्वर्ण, 3 रजत, 2 कांस्य पदक

एशियाई खेल – 1 स्वर्ण और 1 रजत पदक

राष्ट्रमंडल खेल- 1 स्वर्ण और 1 रजत पदक

Leave A Reply

Your email address will not be published.