छत्तीसगढ़ी में एमए डिग्री धारियों को सरकार शिक्षक नियुक्त करेगी

छत्तीसगढ़ी में एमए डिग्री धारियों को सरकार शिक्षक नियुक्त करेगी. छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज छत्तीसगढ़ी में पढ़ाई का मुद्दा उठा. विधायक कुंवर निषाद ने मुद्दा उठाते हुए कहा कि बहुत से युवा हैं जो छत्तीसगढ़ी भाषा की पढ़ाई कर चुके हैं, उन्हें टीचर की जॉब मिलनी चाहिए.

0 36

- Advertisement -

रायपुर। छत्तीसगढ़ी में एमए डिग्री धारियों को सरकार शिक्षक नियुक्त करेगी. छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज छत्तीसगढ़ी में पढ़ाई का मुद्दा उठा. विधायक कुंवर निषाद ने मुद्दा उठाते हुए कहा कि बहुत से युवा हैं जो छत्तीसगढ़ी भाषा की पढ़ाई कर चुके हैं, उन्हें टीचर की जॉब मिलनी चाहिए. इस पर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि हमारी सरकार तो सरगुजिया, गोंडी तमाम बोलियां में पढ़ाई की तैयारी कर रही है. एमए छत्तीसगढ़ी कर चुके लोगों की भी भर्ती किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज 16 फरवरी को  छत्तीसगढ़ी में पढ़ाई का मुद्दा उठा. विधायक कुंवर सिंह निषाद ने ये मुद्दा उठाया. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा देश के हर राज्य में अपनी-अपनी बोली के हिसाब से पढ़ाई होती है. बहुत से युवा हैं जो छत्तीसगढ़ी भाषा की पढ़ाई कर चुके हैं, उन्हें टीचर की जॉब मिलनी चाहिए.

- Advertisement -

जवाब देते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि कुंवर सिंह निषाद तो सिर्फ छत्तीसगढ़ी की बात कर रहे हैं. हमारी सरकार तो सरगुजिया, गोंडी तमाम बोलियां में पढ़ाई की तैयारी कर रही है. आने वाले समय में हमारी कोशिश है एम ए हिंदी के जो छात्र हैं उनकी संख्या बहुत कम है. उन्हें भी भर्ती में शामिल करने के लिए प्रयास कर रहे हैं. बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कुंवर सिंह निषाद जी का जो सवाल है वह भावनात्मक रूप से अच्छा है लेकिन हम छत्तीसगढ़िया लोगों को आगे बढ़ना चाहते हैं. पूरे देश की शिक्षा के स्तर पर उन्हें लाना है.

कुंवर सिंह निषाद ने कहा कि मैं भावना की बात नहीं कर रहा बोली के सम्मान की बात है. अजय चंद्राकर ने कहा कि छत्तीसगढ़ी जब तक आठवीं अनुसूची में नहीं जुड़ेगी तो उसे दूसरे प्रदेशों में मान्यता नहीं मिलेगी. हम सब मिलकर उसे आठवीं अनुसूची में जुड़वाने का प्रयास करें.

भूपेश बघेल ने इस पर कहा कि बहुत सारे ऐसे छात्र हैं जो छत्तीसगढ़ी में डिग्री हासिल कर चुके हैं. ऐसे में स्कूलों में उन लोगों को मौका मिलना चाहिए. आप 33000 टीचर्स की भर्ती कर रहे हैं, ठीक है लेकिन छत्तीसगढ़ी में जिन्होंने मास्टर डिग्री हासिल की है उनको भी अवसर मिलना चाहिए. बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि जिन्होंने एमए छत्तीसगढ़ी की है उनकी भी भर्ती की जाएगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.