डब्ल्यूबीजेईई अभ्यर्थियों को परीक्षा के दिन स्टाफ-स्पेशल ट्रेन चलाने की अनुमति

पूर्व रेलवे ने पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा (डब्ल्यूबीजेईई) अभ्यर्थियों को परीक्षा के दिन स्टाफ-स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति देने की घोषणा की है। पूर्व रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि डब्ल्यूबीजेईई अभ्यर्थियों और उनके साथ जाने को इच्छुक अभिभावकों को स्टाफ-स्पेशल ट्रेनों से यात्रा करने के लिए शनिवार से टिकट काउंटर पर टिकट दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘परीक्षा का मूल प्रवेश पत्र दिखाने पर टिकट दिया जाएगा।’’

0 32

- Advertisement -

deshdigital

कोलकाता| पूर्व रेलवे ने पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा (डब्ल्यूबीजेईई) अभ्यर्थियों को परीक्षा के दिन स्टाफ-स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति देने की घोषणा की है। पूर्व रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि डब्ल्यूबीजेईई अभ्यर्थियों और उनके साथ जाने को इच्छुक अभिभावकों को स्टाफ-स्पेशल ट्रेनों से यात्रा करने के लिए शनिवार से टिकट काउंटर पर टिकट दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘परीक्षा का मूल प्रवेश पत्र दिखाने पर टिकट दिया जाएगा।’’

- Advertisement -

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी की स्थिति में सुधार होने के बाद यह राज्य में पहली बड़ी परीक्षा है जो ‘ऑफलाइन’ होगी। अंतर स्नातक इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए कुल 92,695 अभ्यर्थी इसमें बैठेंगे।

दूसरी ओर, बंगाल में कोविड-19 के कारण बोर्ड की परीक्षाएं रद होने के बाद विद्यार्थियों के नौवीं कक्षा के परिणाम और आंतरिक आकलन अंक को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए दसवीं कक्षा के अंकपत्र उन्हें जल्द ही दिए जाएंगे।

पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली ने अधिसूचना में कहा कि 20 जुलाई को संवाददाता सम्मेलन के बाद अंक पत्र जारी किए जाएंगे। अधिसूचना में गांगुली ने कहा, ‘‘इस बार मेधा सूची नहीं होगी। दसवीं कक्षा (माध्यमिक) के उम्मीदवार मंगलवार को निश्चित वेबसाइट पर लॉग इन कर अंक पत्र डाउनलोड कर सकेंगे।’’ उन्होंने पहले कहा था कि विचार-विमर्श के बाद विशेषज्ञों ने आकलन मानदंड पर निर्णय किया है जिसके मुताबिक 50 प्रतिशत अंक नौवीं कक्षा के वार्षिक परीक्षा परिणाम के आधार पर और शेष 50 फीसद अंक आंतरिक आकलन के आधार पर दिए जाएंगे। उम्मीदवार जन्मतिथि और पंजीकरण संख्या के आधार पर वेबसाइट से अंक पत्र हासिल कर सकेंगे। इस वर्ष 12 लाख से अधिक छात्र माध्यमिक परीक्षा देने वाले थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.