कोरोना संक्रमण के बीच जनसुनवाई, बवाल, पथराव ,पिटाई  

जगदलपुर और अंबिकापुर में हुए जनसुनवाई पर सवाल उठने लगे हैं

0 1

जगदलपुर /अंबिकापुर| कोरोना संक्रमण के तेजी के दौर में हुए जगदलपुर और अंबिकापुर में हुए जनसुनवाई पर सवाल उठने लगे हैं| धारा 144 लगा है और जनसुनवाई चल रही थी| इन दोनों जनसुनवाई में बवाल ही नहीं पथराव तक हुए , नाराज ग्रामीणों ने हमला कर दिया|  दोनों जगहों पर ग्रामीण यह भी कहते दिखे कि जानबूझकर कोरोना काल में जनसुनवाई करवाई जा रही है|

जहाँ बस्तर के भानपुरी थाना क्षेत्र के चपका ग्राम में प्रस्तावित मेसर्स गोपाल स्पंज पावर प्लांट का विरोध करते जनसुनवाई के दौरान ग्रामीणों ने विधायक और प्रशासनिक वाहनों पर पथराव किया तथा राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर चक्का जाम कर दिया|

वहीँ  अंबिकापुर के चिरगा में एलोमीना रिफाइनरी का प्लांट लगाने के लिए जनसुनवाई में हंगामा हो गया। महिलाओं ने जिला उद्योग अधिकारी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

बस्तर के भानपुरी थाना क्षेत्र के चपका ग्राम में प्रस्तावित मेसर्स गोपाल स्पंज पावर प्लांट का विरोध करते जनसुनवाई में बवाल मचा दिया| दरसअल एक निजी कंपनी के लिये भूमि आबंटित संबधी जनसुनवाई प्रशासन ने आयोजित की थी मगर गांव वाले इलाके में प्लांट लगाने का विरोध कर रहे हैं|

बवाल इतना बढ़ा कि क्षेत्र के विधायक को मौके से जाना पड़ा| इतना ही नहीं नाराज ग्रामीणों ने विधायक की गाड़ी और प्रशासनिक वाहनों पर पथराव किया तथा राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर चक्का जाम कर दिया|

बताया गया कि  बस्तर ब्लाक के चपका ग्राम में प्रस्तावित मेसर्स गोपाल स्पंज पावर प्लांट के संबंध में जनसुनवाई बुलाई गई थी|

इस दौरान कुछ मुद्दों पर ग्रामीण नाराज हो गए और  नारायणपुर विधायक और हस्तशिल्प बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप के वाहन का घेराव कर  ग्रामीणों ने वाहनों पर पथराव किया|

जन सुनवाई को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात किया गया था. लेकिन आक्रोशित ग्रामीणों को रोकने में पुलिस नाकामयाब साबित हुई|

वहीं विधायक को भी मौके से रवाना होना पड़ा| विधायक के जाने के बाद ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर चक्काजाम कर दिया|

कोरोना को देखते हुए बस्तर जिले में धारा 144 लागू है, जनसुनवाई में सैकड़ों   ग्रामीण पहुंचे हुए थे और बकायदा पूरे प्रशासनिक अधिकारियों के बीच जन सुनवाई की गई|

इधर अंबिकापुर के चिरगा में एलोमीना रिफाइनरी का प्लांट लगाने के लिए जनसुनवाई में हंगामा हो गया। महिलाओं ने जिला उद्योग अधिकारी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक अंबिकापुर के चिरगा में एलोमीना रिफाइनरी का प्लांट लगाने के लिए जनसुनवाई में हंगामा हो गया। महिलाओं ने जिला उद्योग अधिकारी को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। हालात थी कि अपर कलेक्टर को पुलिस ने बचाया। जिला उद्योग अधिकारी अब्दुल शाकिर को महिलाओं व ग्रामीणों ने पीटा। लोगों ने अपर कलेक्टर अमृत लाल धुर्वे को भी निशाना बनाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस बल ने उन्हें भीड़ से बचा लिया।

अफसरों का कहना है कि कुछ महिलाओं ने तब हंगामा किया, जबकि उनकी बात पूरी सुनी जा चुकी थी। इससे पहले ग्रामीणों ने जन सुनवाई के विरोध में कलेक्टर को आवेदन देकर कहा था कि जिस जमीन पर प्लांट खोला जा रहा है वह चारागाह, निस्तारी की जमीन है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.