दाना-पानी की तलाश में हाथी अब इंसानी बस्तियों की ओर

0 8

महासमुंद| दाना-पानी की तलाश में हाथी अब इंसानी बस्तियों की ओर दाखिल होने लगे हैं| सरायपाली, गरियाबंद के बाद अब महासमुंद जिला मुख्यालय के करीब के गांव कोसरंगी में ऐसा मामला सामने आया| लोग अचानक गलियों में हाथियों को देख सकते और दहशत में आगये|

महासमुंद जिला मुख्यालय के समीप स्थित गांव कोसरंगी में सोमवार सुबह  दो विशालकाय हाथी   गलियों में घूम कर ये हाथी दाना- पानी ढूंढते रहे।  कुछ देर बाद  दोनों हाथी ग्राम अरण्ड होते हुए जंगल की ओर चले गए।

क्षेत्र के जंगलो में निवासरत दर्जनों हाथी अब जंगल के समीप के ग्रामो एवम नगरों में भी | दाना-पानी की तलाश में पहुचने लगे है।हाथियो के इस तरह ग्राम एवम नगर की गलियों में चहल कदमी से ग्रामीण क्षेत्रो में दहशत का माहौल है।

ग्रामीणों  के अनुसार सुबह हाथी ग्राम कोसरंगी की गलियों में आराम से घूमता रहा।जिसे देख आम ग्रामीणों में तो दहशत थी परन्तु कुछ युवा हाथी का वीडियो बनाते भी देखे गए।

ग्राम कोसरंगी में गलियों में घूमते दोनों हाथियों ने ग्राम के एक मवेशी को मार डाला।  हाथी के कोसरंगी ग्राम पहुचने की खबर के बाद वन विभाग का पूरा अमला मौके पर पहुच गया।इसके बाद विभिन्न उपायों से हाथियों को ग्राम से बाहर खदेड़ा गया।

बहरहाल बताया जा रहा है, वर्तमान में हाथी कोसरंगी गांव से निकलकर अरण्ड के आगे नवाडीह के जंगल मे है।  नवाडीह जंगल के आसपास के ग्रामो में हाथियों की जानकारी एवम बचाव हेतु मुनादी कराई जा रही है।

 

हाथियों के वर्तमान ठिकानों के चारो ओर एक किलोमीटर की परिधि में वन कर्मी नियुक्त कर उनके मूवमेंट की जानकारी ली जा रही है।

ज्ञात हो कि इसके पूर्व भी जिले की एक नगर पालिका क्षेत्र सराईपाली नगर पंचायत क्षेत्र तुमगांव सहित जिले के दर्जन भर से अधिक ग्रामो में हाथी की धमक सुनाई दे चुकी है।इसके अलावा कोई आधा दर्जन धान खरीदी केंद्रों तक भी पहुच कर हाथी धान खा कर अपनी भूख मिटा चुका है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.