पेंगोलिन के अवशेष के साथ 3 गिरफ्तार

0 16

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर में वन विभाग ने दुर्लभ जीव पेंगोलिन के अवशेष के साथ तीन आरोपी को गिरफ्तार किया है| इनमे एक शिक्षाकर्मी भी शामिल है| बरामद शल्क, नाखून की कीमत लाखो में बताई जा रही है

वन अमले को सूचना मिली थी कि कुछ लोग शहर के आस-पास ही वन जीव पेंगोलिन की हत्या कर उसके अवशेष बेचने की फिराक में है। सूचना मिलने के बाद वन विभाग के द्वारा स्पेशल टीम का गठन कर जांच शुरू की गई थी।

इस दौरान ठेलकाबोड पहाड़ी के पास बोरे में पेंगोलिन के अवशेष के साथ घूम रहे दो आरोपियों को वन विभाग की टीम ने घेराबंदी कर दबोच लिया। वहीं आरोपियों की निशानदेही पर उनके तीसरे साथी को माकड़ी के नजदीक से वन अमले ने पकड़ा है।

आरोपियों के नाम हरेंद्र कुमार साहू, मानसिंह मंडावी मावली, अरुण कुमार नागवंशी हैं|

रेंजर संदीप सिंह ने बताया कि पेंगोलिन विलुप्ति की कगार पर है, ऐसे जीव को मारकर उसके अवशेष को बेचने के फिराक में घूम रहे तीनो आरोपी पकड़े गए हैं|

आरोपी  हरेंद्र कुमार साहू और मानसिंह मंडावी से वन्य प्राणी पैंगोलिन का मांस नाखून बाहरी आवरण सल्क जिसका वजन 2.6 किलोग्राम जब्त  किया गया|

इसके बाद आरोपी हरेंद्र कुमार साहू ने  बताया कि शिक्षाकर्मी अरुण कुमार नागवंशी ने वन्य प्राणी पेंगोलिन का मांस नाखून बाहरी आवरण सल्क  दिया है|

वन विभाग की टीम ने फ़ोन पर हरेंद्र कुमार साहू की  अरुण कुमार नागवंशी से बात कराई जिसमें वन्य प्राणी के अन्य और अंगों की खरीदी की बात हुई और घटनास्थल पर बुलाया गया| अरुण कुमार को मकडी ढाबा से आगे भानूप्रतापपुर रोड में वन विभाग की टीम ने घेराबंदी कर पकडा|

पूछताछ में अरुण ने  जिला बालोद के  गांव से जीवित पेंगोलिन के सौदा करने की बात कबूल की| पूछताछ में उसने  पैंगोलिन के अंगों को उपलब्ध कराना बताया|साथ ही मांग के अनुसार संबंधित ग्राहकों से बातचीत करना भी बताया| वन विभाग ने तीनों  आरोपियों  को न्यायालय कांकेर के समक्ष प्रस्तुत किया|

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.