इन्द्रावती नदी में डूबते साथी को बचाते तैराक भी डूबा

0 5

बीजापुर| महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ सीमा पर इंद्रावती नदी तट पार करते वक्त दो लोगों की डूबने से मौत हो गई है| दोनों महाराष्ट्र के देशीलपेटा से अपने गृहग्राम गुंलापेटा लौट रहे थे| दोनों मृतक अच्छे तैराक माने जाते थे.मगर उनकी मौत से गाँव वासी हैरान है|घटना शनिवार दोपहर करीब 1 बजे की है|

मिली जानकारी के अनुसार कल बीजापुर जिले के मट्टीमरका से महाराष्ट्र के देशीलपेटा में शादी कार्यक्रम में शामिल होने कामडी गोपाल (53) और मुलकर गणपत (42) गए थे| आज इन्द्रावती नदी को पार कर दोनों अपने घर गुंलापेटा आ रहे थे| इसी दौरान तैर कर नदी पार करते वक्त दोनों की डूबने से मौत हो गई|

मृतक में एक तैराक था जो अपने डूबते साथी को बचाने की जद्दोजहद में खुद ही जान गंवा बैठा| करीब 800 मीटर चौड़ी इंद्रावती नदी पार करते दोनों नदी की गहराई में डूब गए”जहां दोनों की मौत हो गई|

दोनों को अन्य लोगों ने डूबते देखा और बचाने नाव करीब लेकर पहुंचे|

गहरी नदी से दोनों को बाहर निकाला गया मगर तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी|

घटना के बाद तहसीलदार मौके पर पहुंचकर परिजनों से मुलाकात कर मृतकों के परिवारों को 5-5 हजार रुपये अंत्येष्टि सहायता राशि प्रदान की| इलाके के बेहतरीन तैराक की मौत से इलाके में शोक की लहर व्याप्त है|

Leave A Reply

Your email address will not be published.