बसना नगर पंचायत: भाजपा नेता ही जिला नेतृत्व पर उंगली उठाने लगे

बसना नगर पंचायत के वार्ड क्रमांक 09 से निर्दलीय प्रत्याशी शीत गुप्ता के चुनाव जीतने से अब भाजपा नेता ही  जिला  नेतृत्व पर उंगली उठाने लगे है।

0 34

पिथौरा|  बसना नगर पंचायत के वार्ड क्रमांक 09 से निर्दलीय प्रत्याशी शीत गुप्ता के चुनाव जीतने से अब भाजपा नेता ही जिला  नेतृत्व पर उंगली उठाने लगे है।ज्ञात हो कि निर्दलीय विजयी प्रत्याशी  भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता है।यह चुनाव पूर्व कांग्रेस पार्षद असफ़ाक खान के निधन के बाद पद रिक्त हो जाने पर उप चुनाव हुआ।

मिली जानकारी के अनुसार इस चुनाव में भाजपा की ओर से शीत गुप्ता को टिकिट नही मिलने पर उन्हें नीलांचल सेवा समिति द्वारा मैदान में उतारा गया।चुनाव परिणाम में भाजपा तीसरे नम्बर पर रही।

भाजपा को कुल 312 मतों में मात्र 42 वोट ही मिले जबकि दूसरे नम्बर पर रही कांग्रेस प्रत्याशी को भी मात्र 61 वोटो से सन्तोष करना पड़ा।जबकि नीलांचल के शीत गुप्ता ने रिकॉर्ड 312 वोट में 205 वोट प्राप्त हुए।मतदान एव मतगणना शांति पूर्वक सम्पन्न हुई।

पढ़ें : नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस को भारी सफलता

 भाजपा में मतभेद गहराया 
नीलांचल सेवा समिति के संस्थापक संपत अग्रवाल को पार्टी प्रवेश नही दिये जाने के चलते अब पूरी विधान सभा मे भाजपा की किरकिरी होने लगी है।

- Advertisement -

बसना में लगातार भाजपा की हार के बाद अब बसना नगर पंचायत के एक पार्षद चुनाव में भी भाजपा प्रत्याशी के  बहुत खराब प्रदर्शन से अब जिला भाजपा नेतृत्व निशाने पर आ गया है।

भाजपा गढ़फुलझर मंडल के महामंत्री हरजिंदर सिंह हरजु ने इस सम्बंध में भाजपा जिलाध्यक्ष से नैतिकता के नाते त्यागपत्र की मांग भी की है।

श्री हरजु ने कहा  कि भाजपा की इतनी बुरी स्थिति इसके पहले कभी नही हुई< लिहाजा अब भाजपा को मजबूत करने के लिए बगैर देर किए बसना विधान सभा क्षेत्र के लोकप्रिय नेता सम्पत अग्रवाल को तत्काल भाजपा प्रवेश देकर पार्टी को मजबूत करना चाहिए।

deshdigital के लिए रजिंदर खनूजा की रिपोर्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.