लम्बे समय से चला आ रहा वन भूमि विवाद निपटा

छत्तिशगढ़ के महासमुंद जिले के खैरसली और बंदोरा के बिच चला आ रहा बरसों पुराना विवाद आखिरकार सुलझ गया। दोनों पक्षों की सहमति से सीमांकन किया गया।

0 35

- Advertisement -

पिथौरा | छत्तिशगढ़ के महासमुंद जिले के खैरसली और बंदोरा के बिच चला आ रहा बरसों पुराना विवाद आखिरकार सुलझ गया। दोनों पक्षों की सहमति से सीमांकन किया गया।

वन विकास निगम की जमीन कक्ष क्रमांक 58 में ग्राम खिरसाली एवं बंदोरा के बीच काफी लंबे समय से चले आ रहे विवाद का पटाक्षेप जिला प्रशासन एवं वन विभाग के प्रयास से किया गया। ज्ञात हो कि गुरुवार को जमीन विवाद के मामले को लेकर ग्राम खिरसाली एवं बंदोरा के ग्रामीण आमने सामने हो गये एवं धरसा विवाद को लेकर दोनों पक्षों में वाद विवाद और मारपीट की स्थिति निर्मित हो गई थी।

इसे लेकर दोनों गांवों के ग्रामीण जिला कार्यालय एवं वनमंडल कार्यालय में उक्ताशय की शिकायत कर समाधान की मांग किये थे। कलेक्टर के निर्देश पर वनमंडलाधिकारी पंकज राजपुत के निर्देशन में परिक्षेत्र अधिकारी महासमुन्द सालिकराम उड़सेना एवं उनकी टीम शुक्रवार की सुबह से बदोरा, खिरसाली गांव पहुंच कर वनाधिकार पत्र प्राप्त पट्टा धारियों के भूमि का सीमांकन एवं धरसा का सीमांकन का कार्य किया गया।

- Advertisement -

सीमांकन के दौरान कक्ष क्रमांक 58 में ग्राम बंदोरा के 47 हितग्राहियों को शासन द्वारा वन अधिकार पत्र प्रदाय किया गया है। जबकि खिरसाली गांव के ग्रामीणों के काबिज भूमि का पट्टा नहीं बनने के कारण आपस में विवाद की स्थिति निर्मित हो रही थी। जिसके चलते वर्ष 2018 में विधान सभा चुनाव का बहिस्कार करने का निर्णया लिया गया था जिसे वन विभाग के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने मतदान में भाग लिया था।

गुरुवार को बंदोरा गांव के ग्रामीणों द्वारा नया धरसा का निर्माण करने से खिरसाली गांव के ग्रामीणों में रोष व्यप्त था एवं उनके द्वारा पुराने घरसा को यथावत रखने की मांग की जा रही थी। जिस पर सीमा रेखा का सर्वे सीमांकन कर दोनों पक्षों की सहमति से नया घरसा चिन्हांकित किया गया। तद्पश्चात दोनों पक्षों से पंचनामा एवं आपसी सहमति की कार्यवाही कर लंबे समय से चले आ रहे भूमि विवाद का पटाक्षेप किया गया।

जांच सीमांकन कार्यवाही के दौरान मौके पर उपस्थित जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण पटेल का दोनों गाव के ग्रामीणों में सुलह समझौता कराने का विशेष योगदान रहा। ग्राम खिरसाली के काबिज पात्र हितग्राहियों को नियमानुसार आवेदन प्राप्त होने पर वनाधिकार पत्र की कार्यवाही का आश्वासन भी दिया गया है। दोनों गांव के ग्रामीणों द्वारा सामुहिक रूप से संकल्प लिया गया कि अब कोई नया अतिक्रमण नहीं करेंगे एवं वन क्षेत्र में वृक्षारोपण करने में विभाग को आवश्यक सहायोग करेंगे।

इस पूरी कार्यवाही के दौरान ग्राम पंचायत बंदोरा के सरपंच संतोषकुमार पटेल, वन विकास निगम के रेंजर ऋषिन शर्मा, सहायक परिक्षेत्र अधिकारी सिरपुर योगेश्वर निषाद, निगम के हिररूराम पैकरा, मुरली भोई, परिक्षेत्र महासमुन्द से वनपाल रूपेश कन्नौजे, सुरेश साहू, सुशीला साहू, लखिया माण्डले, वनरक्षक धनुक प्रसाद दुबे, रणवीर टण्डन, भूपेन्द्र दास, नंद कुमार ध्रुव थान तुमगांव के पुलिस बल एवं सौकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.