महासमुंद: तीन स्थानों पर हाइवे पर चक्का जाम, कांग्रेस का भी समर्थन

0 25

महासमुन्द|  देशभर में तीन कृषि बिल को वापसी की मांग को लेकरकिये गए चक्का जाम को महासमुंद जिले में खासा समर्थन  मिला| आज जिले में प्रमुख रूप से तीन स्थानों पर हाइवे पर चक्का जाम किया गया।चक्का जाम में  आये किसानों को कांग्रेस ने भी समर्थन दिया।

देशभर में किसानों के हाईवे जाम का असर महासमुन्द जिले में भी देखने को मिला। जिले से होकर गुजरे एनएच 53 में किसानों और कांग्रेस नेताओं ने तीन स्थानों पर चक्का जाम किया।सबसे प्रभावी कार्यक्रम रसनी टोल के पास हुआ। इसके अलावा एनएच 53 पटेवा बस स्टैंड के पास एवम भगत देवरी के पास बजी चक्का जाम कर प्रदर्शन किया गया।

आंदोलन के लिए सुबह किसान और कांग्रेसी नेता निर्धारित राजमार्गो पर एकत्र हुए।सभी स्थानों पर सुबह 11 बजे से आंदोलन प्रारंभ हुआ।चक्का जाम के पूर्व करीब एक घंटे तक धरना दिया गया। धरने को कांग्रेस एवम जिले के किसान नेताओ ने संबोधित किया ।दोपहर के 12 बजते ही आंदोलनकारी सड़क पर आ गए।सभी स्थानों पर कोई 3 बजे तक आंदोलनकारी डटे रहे।इस बीच वे लगातार नारेबाजी कर रहे थे।

आंदोलन में मौजूद किसानों और नेताओं ने केन्द्र सरकार के कृषि कानून पर तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की। आंदोलनकारियों ने कहा सरकार जिस बिल को अच्छा, किसान हितैषी बता रही है। इस बिल के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कई दिनों से वापस लेने की मांग को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं ।

चक्काजाम के दौरान सड़क के दोनों ओर हजारो वाहनों की कतार लग गयी।आज चक्का जाम के समय को देखते हुए यात्री बस ऑपरेटरों ने कुछ बसों का संचालन रद्द कर दिया था।

एम्बुलेंस एवम अत्यावश्यक सेवा में चलने वाली वाहनों को नही रोक गया।जाम के दौरान मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।किसी अनहोनी को टालने पुलिस चक्का जाम स्थल की ओर जा रही वाहनों को  पहले ही रोका जा रहा था।इसके बावजूद वाहनों की लंबी कतार देखी गयी|

कांग्रेस नेता कुलवंत खनूजा ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस एवं जिला कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार  आंदोलनरत किसानों के आव्हान पर राष्ट्रव्यापी चक्का जाम के समर्थन में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी सांकरा के अध्यक्ष रवि शंकर कश्यप एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पिथौरा के अध्यक्ष करण सिंह दीवान के नेतृत्व में संयुक्त रुप से  राष्ट्रीय राजमार्ग 53 के सांकरा में गुरु घासीदास चौक में चक्का जाम किया गया।

केंद्र सरकार के द्वारा कृषि सुधार के नाम पर तीन कृषि काले कानून व आम जनता विरोधी बिल की वापसी एवं फसलों के एमएसपी की गारंटी की मांग को लेकर नारे लगाते हुए कांग्रेस जन चक्का जाम आंदोलन में शामिल हुए।

इस अवसर पर पिथौरा क्षेत्र के तथा सांकरा क्षेत्र के किसान के कांग्रेस कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल हुए।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.