धर्म सभा में 21 परिवारों ने की घर वापसी, साधु-संतों ने भगवा गमछा पहनाकर किया स्वागत

रायपुर में आयोजित धर्मसभा के दौरान ईसाई धर्म स्वीकार कर चुके 21 परिवारों ने घर वापसी की। साधु-संतों ने घर वापसी करने वाले परिवारों का भगवा गमछा पहनाकर और श्रीफल भेंट कर स्वागत किया।

0 48

- Advertisement -

रायपुर। रायपुर में आयोजित धर्मसभा के दौरान ईसाई धर्म स्वीकार कर चुके 21 परिवारों ने घर वापसी की। साधु-संतों ने घर वापसी करने वाले परिवारों का भगवा गमछा पहनाकर और श्रीफल भेंट कर स्वागत किया। इसके पहले धर्म सभा के दौरान निर्मोही अखाड़ा के संत राजीव लोचन महाराज ने पत्रकारों से रू-ब-रू हुए। इस दौरान छत्तीसगढ़ में हिन्दू राष्ट्र की बात किए जाने के सवाल पर संत ने कहा कि हम साधु हैं। किसी राजनेता के नेता को नहीं जानते, हमारे नेता राम हैं। छत्तीसगढ़ के लोगों के ह्रदय में राम हैं। राम को जन्म देने वाली माता कौशल्या छत्तीसगढ़ में पैदा हुई। हिन्दू राष्ट्र यहां से निकलकर पूरे भारत में फैलेगा।

- Advertisement -

 राजीव लोचन महाराज ने कहा कि राम ही हिन्दू धर्म है। हिन्दू राष्ट्र की बात कर गए हैं, तो हम राम राज्य की बात कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के लोग बात ही बात में हिन्दू राष्ट्र बना देंगे। प्रदेश के मुख्यमंत्री कह रहे दिल्ली जाकर हिन्दू राष्ट्र की मांग करें। हम कहीं जाए वो मुख्यमंत्री क्यों बताएंगे। हम मां की पेट से सीख के आये हैं। हिन्दू कौन, जो तन में शस्त्र, और मन में शास्त्र रखे। हाथ में शस्त्र रखना होगा। संत ने कहा कि छत्तीसगढ़ में रोहंगिया मुसलमानों को बसाया जा रहा है। हिन्दू राष्ट्र बनाने का सपना रायपुर से जाएगा। अब हर जिले में साधु जाएंगे। इसके लिए पहली सभा की शुरुआत कवर्धा से होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.