सिरफिरे युवक ने पड़ोसी के घर जाकर 5 सदस्यों की हत्या कर वहीं फांसी लगाई

पिथौरा  से 35 किलोमीटर दूर सारंगढ़ बिलाईगढ़ जिले के ग्राम थरगांव में सिरफिरे युबक ने अपने पड़ोसी के घर में जाकर 5 सदस्यों की हत्या कर दी. उसके बाद आरोपी सिरफिरे ने वहीं उसी घर में ही फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली.

0 440

- Advertisement -

पिथौरा |पिथौरा  से 35 किलोमीटर दूर सारंगढ़ बिलाईगढ़ जिले के ग्राम थरगांव में सिरफिरे युवक ने अपने पड़ोसी के घर में जाकर 5 सदस्यों की हत्या कर दी. उसके बाद आरोपी सिरफिरे ने वहीं उसी घर में ही फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली. घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है. इसे सम्भवतः महासमुंद जिले के किशनपुर में स्वास्थ्य कर्मी योगमाया हत्याकांड के बाद क्षेत्र की सबसे ख़ौफ़नाक घटना बताई जा रही है.

इस लोमहर्षक घटना के बारे में एक प्रत्यक्ष दर्शी ने बताया कि ग्राम थरगांव में हेमलाल साहू नामक ग्रामीण अपने परिवार के साथ जीवन गुजर बसर कर रहा था. उसकी पत्नी जगमुखी साहू ग्राम में ही मितानिन के पद पर कार्य करती थी.

कल शुक्रवार की रात यह परिवार खाना खा कर सोया हुआ था. बताया गया के उसकी एक बेटी मीरा मंद बुद्धि थी और दूसरी विवाहित बेटी ममता कुछ दिन पूर्व ही अपने 5 साल के बेटे के साथ ससुराल सरसींवा से मायके आयी थी. रात में खाना खाकर पूरा परिवार  सोया हुआ था.

इस बीच पड़ोसी मनोज साहू उर्फ पप्पू टेलर (27वर्ष)  मृतक परिवार के घर पहुंचा और एक एक कर घर के सभी सदस्यों पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया. हमले में परिवार के सभी 5 सदस्यों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. सभी हत्या के बाद आरोपी मनोज खुद भी वहीँ मृतकों के कमरे के ही एक कोने में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

घटना के कारणों के बारे में घटना स्थल के आसपड़ोस में कुछ रहवासियों ने बताया कि आरोपी मनोज का इस परिवार से किसी एकतरफा प्रेम प्रंसग की संभावना है.

- Advertisement -

बहरहाल घटना की सम्पूर्ण अधिकृत जानकारी अभी नहीं मिल पाई है. सलिहा पुलिस मौके पर मामले की जांच में जुट गई है. घटनास्थल को पूरी तरह सील कर दिया गया है.घटना के बाद से क्षेत्र में भयमिश्रित सन्नाटा पसरा हुआ है.

सम्भवतः महासमुंद जिले के किशनपुर हत्याकांड के बाद क्षेत्र की यह सबसे ख़ौफ़नाक घटना है. पिथौरा थाना क्षेत्र के गांव किशनपुर में 30 और 31 मई 2018 की दरम्यानी रात वहां पदस्थ एएनएम योगमाया साहू उसके पति चैतन्य साहू और दो बच्चों सात वर्षीय तन्मय साहू और नौ वर्षीय कुणाल साहू की बड़ी बेरहमी से धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी.  हत्या की बर्बर तस्वीरों को देख कर आज भी क्षेत्रवासी सहम उठते है. उक्त वारदात से एक भरा पूरा परिवार समाप्त हो गया था.

पढ़ें: बहुचर्चित योगमाया हत्याकांड के सभी पांचों आरोपियों को उम्रकैद

deshdigital के लिए रजिंदर खनूजा

Leave A Reply

Your email address will not be published.