बलौदाबाजार : मड़ई मेले में खड़खड़िया और महुआ शराब की बिक्री !

ग्रामीणों की मानें तो महासमुंद जिले की पिथौरा की सरहद से सटे बलौदाबाजार जिले  समीप के बया पुलिस चौकी के तहत होने वाले मड़ई मेले में खड़खड़िया जुआ चलने और अवैध महुआ शराब की बिक्री हो रही है। ग्रामीणों ने बया पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाया है।

0 236

- Advertisement -

पिथौरा|  ग्रामीणों की मानें तो महासमुंद जिले की पिथौरा की सरहद से सटे बलौदाबाजार जिले के  बया पुलिस चौकी के तहत होने वाले मड़ई मेले में खड़खड़िया जुआ चलने और अवैध महुआ शराब की बिक्री हो रही है। ग्रामीणों ने बया पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाया है। जबकि पुलिस ने इसे नकारते हुए इलाके में अवैध महुआ शराब की बिक्री और कार्रवाई की   बात कही|

ग्रामीण सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बया क्षेत्र में बारिश का मौसम होने के बाद भी लगातार क्षेत्र के किसी ना किसी ग्राम में मेला मड़ई जैसे कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं ।इन मेला मड़ाई में खुलेआम खडखड़िया के फड़ लगाए जाते हैं और महुआ शराब की बिक्री की भी खुली छूट होती है।

इधर बया पुलिस चौकी प्रभारी धनेश तांडेकर  ने इस प्रतिनिधि को बताया कि क्षेत्र में खड़खड़िया नही चलता परन्तु अवैध महुआ शराब की बिक्री जरूर होती है।जिस पर समय समय पर कार्यवाही की जाती है।

- Advertisement -

इधर वनग्रामो के  ग्रामीण पुलिस के भय से किसी के सामने कोई शिकायत भी नही कर पाते। अपने जंगली क्षेत्र दौरे के दौरान कुछ ग्रामीणों ने अपना नाम जाहिर  नहीं करने की शर्त पर बताया कि ये मड़ई मेले खड़खड़िया संचालकों  द्वारा अपबे खर्च से ही आयोजित करवाये जाते है। इस खेल में खड़खड़िया संचालक ही जीतते है। जिस पुलिस पर इस  समाजिक बुराई दूर करने की जिम्मेदारी दी गयी है।उनकी ही छत्रछाया में ये अब अवैध कार्य संचालित होते हैं |

वन क्षेत्र के कुछ ग्रामीण  ने यह भी बताया कि बया चौकी के तहत चरौदा एवम तेन्दुचुआ में इसी तरह का मेला मड़ई इसी सप्ताह आयोजित किये जाने की योजना है।

ग्रामीणों की मानें तो  आगामी जन्माष्टमी के पावन अवसर को भी खड़खड़िया संचालक भुनाने की योजना बना चुके है।  ग्रामीणों ने बलौदाबाजार  कलेक्टर एवम एस पी से उक्त खेल हेतु आयोजित होने वाले मड़ई मेलो को बन्द कराने की गुहार लगाई है।

deshdigital की लिए पिथौरा से रजिंदर खनूजा

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.