बसना के अजगरखार लूट एवम अँधेक़त्ल की गुत्थी सुलझी ,आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद जिले  बसना थाना के अजगरखार में हुई लूट एवम अँधेक़त्ल की गुत्थी बसना पुलिस ने 24 घण्टे के अंदर सुलझा ली | पुलिस ने आरोपी डिगेश यादव की निशानदेही पर घटना के समय पहने खून लगे कपड़े, नगदी रकम एवं घटना में प्रयुक्त लोड़हा पत्थर को जब्त किया |  उसे धारा 302, 382, 449 के तहत गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

0 159

- Advertisement -

पिथौरा| महासमुंद जिले  बसना थाना के अजगरखार में हुई लूट एवम अँधेक़त्ल की गुत्थी बसना पुलिस ने 24 घण्टे के अंदर सुलझा ली | पुलिस ने आरोपी डिगेश यादव की निशानदेही पर घटना के समय पहने खून लगे कपड़े, नगदी रकम एवं घटना में प्रयुक्त लोड़हा पत्थर को जब्त किया |  उसे धारा 302, 382, 449 के तहत गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

बसना पुलिस ने बताया कि प्रार्थी जगदीश प्रसाद साहू पिता स्व0 श्यामसुन्दर साहू उम्र 54 साल निवासी अजगरखार  चौकी  भंवरपुर थाना बसना जिला महासमुंद   बालक आश्रम उडेला में रसोईया का कार्य करता है।

10 अक्टूबर  को खाना बनाने के लिए ग्राम खोसा गया था, घर पर  उसकी पत्नी सुंदरी बाई साहू अकेली थी| दोपहर  करीबन 3 बजे पर आया तो पत्नी सुंदरी बाई  घर के  बरामदा में उबढी अवस्था में पड़ी हुई है, सिर पर  चोट का निशान व काफी खून  जमीन में बहा हुआ है, आलमारी से करीब 11000 रूपये गायब  है।

प्रार्थी  की सूचना पर पुलिस टीम तत्काल मौके पर पहुंची | घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई । पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल द्वारा   अनुविभागीय अधिकारी (पु) सरायपाली, थाना बसना प्रभारी, भंवरपुर चौकी  प्रभारी, सायबर सेल टीम एवं डाग स्क्वाड़ को शीघ्र घटनास्थल ग्राम अजगरखार पहुंचकर घटना के अज्ञात आरोपी की पतासाजी करने हेतु निर्देशित किया गया।

अज्ञात आरोपी को पकड़ने हेतु तीन टीम तैयार किया गया। जिसमें सभी टीमों द्वारा अलग-अलग दिशा में कार्य करते हुये अज्ञात आरोपी की पता तलाश हेतु प्रार्थी पक्ष से, ग्राम वासियों से तकनीकी सहायता से एवं रायपुर एफएसएल टीम की मदद ली जा रही थी |

- Advertisement -

पतासाजी के दौरान सूचना मिली कि  घटना के समय प्रार्थी के घर के आस पास कुछ लोग घूम रहे थे व प्रार्थी के दुकान कुछ सामान भी लेने आये थे| पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल के पास उपस्थित लोगों से पूछताछ में  पता चला कि दिन करीब एक-डेढ़ बजे गांव का रहने वाला ढिमेश यादव को प्रार्थी जगदीश साहू के घर से डरे सहमे हुये बाहर निकलते देखा गया था।

संदेह के आधार पर  डिगेश यादव को तलाश कर पकड़ा गया।   बारिकी से पूछताछ करने पर  उसने अपराध स्वीकार | डिगेश ने  बताया कि   10.10.21 को प्रार्थी जगदीश साहू के घर दुकान में बीड़ी खरीदने गया था।

दुकान बंद रहने पर मकान का मेनगेट को खोलकर घर अंदर गया|  सुंदरी बाई ने इसका  विरोध किया | सुंदरी बाई  पहले की  उधारी है  और जबरदस्ती घर में   घुस आने पर  चिल्लाने लगी और बरामदे में आ गयी।

इस पर दोनों में  विवाद होने लगा तभी  आरोपी ने  बरामदे में रखे सील पत्थर के   को उठाकर सुंदरी बाई के सिर पर  जोर से मारा जिससे वह  जमीन में गिरकर चिल्लाने लगी । तब डिगेश ने  उसकी साड़ी  खिंचकर उसके गले को बांध दिया तथा पुनः सील पत्थर से सिर में दो-तीन वार कर हत्या कर दी |  इसके बाद  अंदर आलमारी में रखे नगदी रकम 11000 रूपये को चोरी कर भाग गया।

पुलिस टीम द्वारा आरोपी डिगेश यादव के निशानदेही पर घटना के समय पहने खून लगे कपड़े, नगदी रकम एवं घटना में प्रयुक्त लोड़हा पत्थर को जब्त  कर आरोपी   को गिरफ्तार कर आरोपी के विरूद्ध थाना बसना में  धारा 302,382,449 भादवि के तहत कार्यवाही की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.