खेत के कंटीले तार में करंट, रोपा लगाते देरानी-जेठानी की मौत

महासमुंद जिले के बसना थाना इलाके के पिरदा गाँव में करंट की चपेट में आने से रोपा कर रही दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई| दोनों महिलाएं देरानी-जेठानी थीं|  खेत में लगे कंटीले तार में करंट बोरवेल तक पहुंचे  बिजली के तार के कट जाने से प्रवाहित हो गया था|

0 134

- Advertisement -

deshdigital

बसना| महासमुंद जिले के बसना थाना इलाके के पिरदा गाँव में करंट की चपेट में आने से रोपा कर रही दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई| दोनों महिलाएं देरानी-जेठानी थीं|  खेत में लगे कंटीले तार में करंट बोरवेल तक पहुंचे  बिजली के तार के कट जाने से प्रवाहित हो गया था|

जानकारी के मुताबिक बसना थाना इलाके के  पिरदा निवासी बाबूलाल नामक किसान के खेत में महिलाएं धान रोपा के  लिए गई थीं।  खेत में फसल को जानवरों से बचाने   कंटीले तार लगाए गए थे। उसी तार में बोरवेल का तार कटकर चिपक गया था, जिससे होते हुए करंट पूरे खेत के चारों तरफ के तारों में फैल गया था। खेत में रोपाई करते जब दोनों महिलाएं  कंटीले तार के संपर्क में आ गई और  दोनों एक साथ चिपक गई।

- Advertisement -

घटना की सूचना खेत में काम कर रहे मजदूरों ने पुलिस और खेत के मालिक बाबूलाल को दी। इसके बाद बिजली विभाग ने बिजली बंद किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को खेत से बाहर निकाला |

दोनों ही महिलाएं पिरदा गांव की ही और रिश्ते में देरानी-जेठानी थी| इनकी  पहचान अनुसुईया प्रधान और कांचन प्रधान के रूप में हुई है।

बसना थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर ने बताया कि महिलाएं रोपाई कार्य करने पहुंची थीं। करंट की चपेट में आने से दोनों महिलाओं की मौत हो गई। पुलिस जांच जारी है।

बता दें महासमुंद जिले में करंट से जंगली जानवरों के शिकार के लिए लगाये करंट से इंसानों के मरे जाने की घटनाएँ पहले भी सामने आ चुकी हैं| इसी तरह छोटे जंगली जानवरों के लिए लगाये करंट से हाथी, भालू ,तेंदुआ जैसे जानवर भी जान गँवा चुके हैं| बलौदाबाजार जिले के अर्जुनी के जंगलों में करंट से शिकार के कई मामले सामने आ चुके हैं|

Leave A Reply

Your email address will not be published.