नानक सागर में कीर्तन दरबार 20 फरवरी को ,देश भर से जुटेंगे संगत

महासमुंद जिले के प्रसिद्ध नानक सागर में गुरुद्वारा निर्माण हेतु अरदास के बाद अब पूर्णमासी के अवसर पर शबद कीर्तन का आयोजन प्रारम्भ किया जा रहा है। आगामी 20 फरवरी रविवार को गुरुद्वारा निर्माण स्थल पर  कीर्तन दरबार होगा।

0 69

- Advertisement -

पिथौरा|  महासमुंद जिले के प्रसिद्ध नानक सागर में गुरुद्वारा निर्माण हेतु अरदास के बाद अब पूर्णमासी के अवसर पर शबद कीर्तन का आयोजन प्रारम्भ किया जा रहा है। आगामी 20 फरवरी रविवार को गुरुद्वारा निर्माण स्थल पर  कीर्तन दरबार होगा।

श्री नानक सागर निर्माण समिति के मीडिया प्रभारी मनजीत सिंह छाबड़ा ने मीडिया को बताया कि नानकसागर सागर तीर्थ स्थल गढ़फुलझर में आगामी 20 फरवरी के कीर्तन दरबार का आयोजन किया जा रहा है। जिसकी तैयारियों को अंतिम रूप देने एवं निर्माण स्थल पर ले आउट के अनुसार नींवखोदने का कार्य आंरभ किया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें :

नानक सागर:  517 बरस पहले जहाँ गुरुनानक देव रुके थे 2 दिन

- Advertisement -

पहला कीर्तन दरबार श्री गुरुनानक देव जी के नाम की जमीन पर ही आयोजित है।

पहला कीर्तन दरबार श्री गुरुनानक देव जी के नाम की जमीन पर ही आयोजित है।

अब प्रत्येक माह की पूर्णिमा में कीर्तन दरबार का आयोजन किया जाएगा। दोपहर 11 से एक बजे तक रागी जत्थे द्वारा शबद कीर्तन किया जाएगा उपरांत गुरु का लंगर अटूट बरतेगा। कार्यक्रम में स्थानीय एवम दूर दूर से सिक्ख संगत के आने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.