किशनपुर: अफवाह पर ग्रामीणों की आस्था भारी, प्रतिदिन चढ़ावा दो लाख पार

किशनपुर में निकले स्वयम्भू शिवलिंग की अफवाह पर ग्रामीणों की आस्था भारी पड़ गयी है।आज रविवार को सुबह से किशनपुर में कोई 50 हजार श्रद्धालु हजारो मालवाहक एवम अन्य वाहनों से पहुच चुके है।शिवलिंग दर्शन अब पूरी तरह व्यवसायिक हो गया है लिहाजा प्रतिदिन चढ़ावा दो लाख पार कर गया है।

0 1,615

- Advertisement -

पिथौरा |नगर के समीप ग्राम किशनपुर में निकले स्वयम्भू शिवलिंग की अफवाह पर ग्रामीणों की आस्था भारी पड़ गयी है।आज रविवार को सुबह से किशनपुर में कोई 50 हजार श्रद्धालु हजारो मालवाहक एवम अन्य वाहनों से पहुच चुके है।शिवलिंग दर्शन अब पूरी तरह व्यवसायिक हो गया है लिहाजा प्रतिदिन चढ़ावा दो लाख पार कर गया है।
रविवार प्रातः से ही पुलिसिया कार्यवाही से बेख़ौफ़ मालवाहक ठसाठस भर कर किशनपुर जाते देखे जा सकते है।हालात इतने बिगड़ चुके है कि अब पुरानी खटारा मालवाहक में भी लोग भारी भीड़ में जाते दिख रहै है।एक ओर जहां नारियल का ढेर बढ़ता जा रहा है वही दूसरी ओर कथित शिवलिंग स्थल पर लोगो के मिट्टी ले जाने से वहां एक गड्ढा बन गया है।जिसमे जे सी बी से काली मिट्टी डाल कर भरा जाता है।यह गड्ढा लगातार खाली होना जारी है।
 अवैध वसूली ग्राम दो फाड़ 
कुछ ग्रामीणों द्वारा किशनपुर पहुच रही वाहनों एवम दुकानदारों से अवैध वसूली पार्किंग के नाम से की जा रही है।जिसके कारण प्रतिदिन विवाद की स्थिति बन रही है।विगत गुरुवार को अवैध वसूली को लेकर पड़ोस ग्राम के ग्रामीणों से विवाद भी हुआ था।जिसे पुलिस ने आपसी समझौता करवा कर निपटा दिया था।

प्रतिदिन लाखो का चढ़ावा
ग्रामीणों ने उक्त मामले में बताया कि वर्तमान में शिवलिंग दर्शनार्थीयो से मोटी रकम चढ़ोत्तरी के रूप में मिल रही है।प्रतिदिन कोई 10 हजार से अधिक दर्शनार्थी यहां पहुच रहे है।जिनका चढ़ावा ही 1 लाख से अधिक है।जबकि पार्किंग वसूली,और माथे पर चंदन लगाने के काम मे भी हजारों रुपये की आवक प्रतिदिन हो रही है।
पुलिस बनी मूकदर्शक

पूरे मामले में स्थानीय पुलिस की भूमिका शून्य दिखाई दे रही है।किशनपुर के हालात देखकर कभी भी पुलिस भीड़ को गम्भीरता से लेते नही दिखी।

- Advertisement -

अवैध शराब बिक्री भी
दूर दराज क्षेत्र से आनेवाले शौकीनों के लिए कथित शिवलिंग मेले में अवैध शराब की जोरदार बिक्री जारी है।अवैध शराब बिक्री के चलते अब व्यवस्था भी गड़बड़ाने लगी है।लिहाजा आज सुबह उमड़ी भीड़ ने मंदिर समिति द्वारा लगाये बेरिकेट्स ही तोड़ डाले।

यूट्यूबरो ने बनाया माहौल

ग्रामीण बताते है कि उक्त अफवाह को हकीकत का रूप देने में ग्रामीण क्षेत्र के कुछ यूट्यूबर ने आग में घी डालने का काम किया।कथित शिवलिंग को प्रकट बताकर अनेक वीडियो बना कर सोसल मीडिया पर वायरल किये गए जिसका परिणाम यह हुआ कि स्थानीय ही नही राष्ट्रीय स्तर पर यह अफवाह इस कदर फैली कि लोग दूर दूर से दर्शन के लिए पहुच रहे है।अब इस बात की आवश्यकता है कि अंधश्रद्धा उन्मूलन को यहां पहुच कर अपना काम करना चाहिए।

deshdigital  के लिए रजिंदर खनूजा

Leave A Reply

Your email address will not be published.