NH 53 पार करते तेंदुआ ट्रक की चपेट में, मौत

0 3

महासमुंद |  महासमुंद  जिले के पिथौरा के ग्राम टेका पहाड़ी के पास मंगलवार की रात NH 53 फोरलेन पार कर रहे तेंदुए के जोड़े में से नर तेंदुआ अज्ञात ट्रक की चपेट में आकर मौत हो गई । बहरहाल वन विभाग को सूचना मिलते ही  वन एसडीओ घटना स्थल पहुंचे और आज बुधवार  सुबह मृत तेंदुआ का पोस्टमार्टम के बाद उसे  जला दिया गया।

राष्ट्रीय राजमार्ग53 में नगर के समीप टेका ग्राम के पास से निकले NH 53 फोरलेन के दोनों ओर पहाड़ी होने के कारण अक्सर यहाँ से वन्य प्राणियों को सड़क पार कर ही एक पहाड़ी से दूसरी पहाड़ी की ओर जाना पड़ता है|

कल मंगलवार की रात कोई 8 बजे देबपुर वन क्षेत्र से कौड़िया की पहाड़ी की ओर जाने के लिए तेंदुआ का एक नर मादा जोड़ा NH 53 पर सड़क पार कर रहा था परन्तु तेज रफ्तार एक अज्ञात ट्रक ने उसे ठोकर मार दी।जिससे नर तेंदुआ के जबड़ा टूट गया और पेट की आँत बाहर निकल आयी थी।

इस घटना की सूचना के बाद वन एस डी ओ यू आर बसन्त एवम रेंजर एस आर निराला दल बल के साथ घटना स्थल पहुंचे ।वन अधिकारियों ने मृत तेंदुआ को रात में ही पंचनामा के बाद उसे काष्ठगार ले जाया गया।

आज बुधवार की सुबह पशु चिकित्सको की टीम में शामिल डॉ डी एन पटेल,डॉ डी के अग्रवाल एवम डॉ एस पी चौधरी द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। इसके बाद वन विभाग के उच्च अधिकारियों के समक्ष तेंदुआ को जलाया गया। तेंदुआ की उम्र 4 साल बताई गई है।

टेका ग्राम के समीप का उक्त घटनास्थल दो पहाड़ियों एवम जंगलों  के बीच से जाता है।लिहाजा अक्सर हिंसक एवम अन्य वन्य प्राणियों को एक जंगल पहाड़ी से दूसरी जंगल पहाड़ी में जाने के लिए उक्त सड़क को पार करना ही पड़ता है।

इस मार्ग पर इसके पूर्व भी एक तेंदुआ और एक भालू भी ट्रक के पहियों से दब कर मारा जा चुका है। तेंदुआ,भालू जंगली सुअर आदि अक्सर इस मार्ग दिखाई दे जाते हैं|

वहीँ  अब लगातार हाथियों को भी इसी स्थान पर NH 53 पार करते देखा जाता है। जानकारों के अनुसार वन्य प्राणी अक्सर गर्मी के दिनों में जब जंगल में  पानी के स्त्रोत सुख जाते है एवम पेड़ पौधे भी सूख जाते हैं तब भोजन पानी की तलाश में एक जंगल से दूसरे जंगल की ओर  जाते हैं । इस दौरान कभी-कभी हादसों का शिकार भी होना पड़ता है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.