चपरासी के भरोसे चल रहे सिंघोडा हाई स्कूल को आख़िरकार मिले 2 शिक्षक

महासमुंद जिले के  सराईपाली ब्लॉक के ओडिशा सीमा से सटे सिंघोडा हाई स्कूल  बगैर शिक्षक चपरासी के भरोसे संचालित होने की खबर deshdigital में प्रकाशित होते ही शिक्षा विभाग ने पिछली तारीख में दो शिक्षकों की व्यवस्था के आदेश जारी किये है।

0 131

- Advertisement -

पिथौरा| छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के  सराईपाली ब्लॉक में ओडिशा सीमा से सटे सिंघोडा हाई स्कूल  बगैर शिक्षक, चपरासी के भरोसे संचालित होने की खबर deshdigital में छत्तीसगढ़ : हिंदी मीडियम हाई स्कूल चपरासी के भरोसे !  प्रकाशित होते ही शिक्षा विभाग ने पिछली तारीख में दो शिक्षकों की व्यवस्था के आदेश जारी किये है। दोनों शिक्षकों को सोमवार को हर हाल में जॉइन के आदेश दिए गए है।अब सिंघोडा हाई स्कूल में पढ़ाई होने लगेगी।

सिंघोडा का हाई स्कूल तब चर्चा में आया जब ग्रामीणों ने यह बताया कि वह 70 छात्रों के लिए पदस्थ एक मात्र शिक्षक की विगत कोरोना लहर में संक्रमण से मौत के बाद अब यह स्कूल शिक्षकविहीन हो गया है।

- Advertisement -

इसकी खबर का प्रकाशन देश डिजिटल द्वारा प्रमुखता से किया गया था।जिसे संज्ञान में लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी के निर्देश पर खण्ड शिक्षा अधिकारी ने तत्काल एक आदेश जारी कर दो शिक्षकों को कलेण्डा स्कूल से सिंघोडा व्यवस्था में जाने के आदेश जारी कर सोमवार को ही कार्य प्रारम्भ करने के सख्त आदेश जारी कर दिए।

 सभी स्कूलों में पढ़ाई सुनिश्चित की जाएगी–एफ ए नन्द

इधर सरायपाली के खंड शिक्षा अधिकारी एफ ए नन्द ने बताया कि कलेण्डा में पदस्थ अतिशेष शिक्षकों में अशोक कुमार गायकवाड़ एवम वर्षा तिवारी (दोनों विशेषज्ञ) को सिंघोडा पदस्थ किया गया है। नवपदस्थ विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी श्री नन्द ने बताया कि विकासखण्ड का एक भी स्कूल शिक्षक विहीन नही रहने दिया जाएगा एवम सभी स्कूलों में शासन की मंशा के अनुरूप पढ़ाई सुनिश्चित की जाएगी।इसके लिए सभी संकुल समन्वयकों की बैठक लेकर कम शिक्षकों एवम अतिशेष शिक्षकों की जानकारी लेकर कमी दूर की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.