आत्महत्या मामला :  बैंक ऑफ महाराष्ट्र के ब्रांच मैनेजर की गिरफ्तारी की मांग , हाइवे 53 जाम

छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के पिथौरा थाना क्षेत्र के ग्राम डुमरपाली के सैकड़ों ग्रामीणों  ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र के ब्रांच मैनेजर को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग 53 पर करीब  एक घन्टा चक्काजाम -प्रदर्शन किया।

0 68

पिथौरा|  छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के पिथौरा थाना क्षेत्र के ग्राम डुमरपाली के सैकड़ों ग्रामीणों  ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र के ब्रांच मैनेजर को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग 53 पर करीब  एक घन्टा चक्काजाम -प्रदर्शन किया। इस दौरान सैकड़ों वाहन जाम मे फंसे रहे। आंदोलनकारियो ने पुलिस को 10 दिन के अंदर आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही करने का समय देकर चक्काजाम आंदोलन समाप्त किया।

मिली जानकारी के अनुसार पिथौरा थाना क्षेत्र के ग्राम डुमरपाली के कृषक आल्हा राम बरिहा ने विगत दिनों बैंक अधिकारी के रवैये से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी। आल्हा ने अपनी मौत के लिए बैंक आफ महाराष्ट्रा महासमुंद के बाँच मेनेजर को   जिम्मेदार बताते हुए एक सुसाइडल  नोट भी लिखा था।

ज्ञात हो कि आल्हा राम बरीहा उक्त बैंक में कार्य करता था|

- Advertisement -

कोई माह भर पूर्व घटित इस घटना में प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं  किये जाने से आक्रोशित ग्राम डुमरपाली सहित आसपास क्षेत्र के ग्रामीणों ने हाइवे पहुँच कर नारेबाजी के साथ चक्काजाम कर दिया।

चक्काजाम की स्थिति संभालने के लिए स्थानीय पुलिस एवम उच्च अधिकारियों सहित जिले भर का पुलिस बल तैनात किया गया था। इस बीच पिथौरा पुलिस व जिले के आला अधिकारियों  ने  समझाईस देकर कोई घण्टे भर बाद  यातायात बहाल किया ।

चक्काजाम आंदोलन में पूर्व विधायक डॉ विमल चोपड़ा,गोंड समाज के जिलाध्यक्ष मनराखन ठाकुर,योगेश ठाकुर,खिलावन ध्रुव, सियाराम बरिहा,सहित अनेक ग्रामीण एवम आदिवासी समाज के  प्रबुद्ध जन शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.