चोरों ने पोस्ट ऑफिस का तोड़ा ताला, पार्सल चुराए , तोड़ नहीं पाए लाकर  

चोरों ने मंगलवार की रात को पोस्ट ऑफिस उदयपुर का ताला तोड़कर कुछ पार्सल चोरी कर ले गए तथा लाकर को भी तोड़ने का असफल प्रयास किया. सुबह डाक कर्मचारी जब डाक लेने पहुंचे तब पता चला ताला टूटा है. 

0 8

- Advertisement -

उदयपुर|  चोरों ने मंगलवार की रात को पोस्ट ऑफिस उदयपुर का ताला तोड़कर कुछ पार्सल चोरी कर ले गए तथा लाकर को भी तोड़ने का असफल प्रयास किया. सुबह डाक कर्मचारी जब डाक लेने पहुंचे तब पता चला ताला टूटा है.
ब्लॉक मुख्यालय उदयपुर स्थित शाखा डाकघर उदयपुर पिन नंबर 497117 के ऑफिस का ताला तोड़कर चोरी का मामला सामने आया है .मंगलवार के शाम को डाक कर्मचारी ताला बंद कर चले गए थे. रात को अज्ञात चोरों ने NH 130 के किनारे स्थित डाकघर में इत्मीनान से ताला तोड़कर पार्सल और दस्तावेजों को खंगाला है चोरों द्वारा लाकर को खोलने की कोशिश की गई परंतु असफल रहे.
ऑफिस के दोनों तालों को तोड़ने के साथ-साथ चोरों ने दोनों अलमारी को भी खोलकर उसमें रखे कागजों को बिखेर दिया, लाकर को खोलने के लिए चोरों ने आधा दर्जन से अधिक अलग अलग चाभियों का प्रयोग किया असफल रहने पर लोहे के स्पोक का प्रयोग भी किया गया है परंतु उसमें भी असफल रहे.


सुबह 8:00 बजे डाक लेने वाले कर्मचारी ने पोस्ट ऑफिस जाकर देखा तो उसके होश उड़ गए उसने तत्काल घटना की जानकारी अपने उच्च अधिकारियों को दी.
उदयपुर पोस्ट ऑफिस प्रभारी बिजेंद्र सोनी द्वारा उदयपुर थाना में घटना की सूचना दी गई. उदयपुर पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक कुमारी चंद्राकर के नेतृत्व में घटनास्थल पहुंचकर मामले का जायजा लिया गया है तथा चोरों को पकड़ने के संबंध में आवश्यक कार्यवाही भी की जा रही है.
शहर के बीचो-बीच NH 130 के किनारे स्थित पोस्ट ऑफिस में जिस प्रकार से बीती रात चोरी हुई है उससे उदयपुर के व्यापारी व आमजन इस घटना से भयभीत नजर आ रहे हैं. पुलिस की रात्रि कालीन गस्त पर भी स्थानीय लोगों ने सवाल खड़े किए हैं.

- Advertisement -

पोस्ट ऑफिस उदयपुर में वास्तविक में कितने पार्सल की चोरी हुई है और कितने का नुकसान हुआ है सारे दस्तावेजों के मिलान के पश्चात ही इसका पूरा विवरण देने की बात डाकघर प्रभारी द्वारा कही गई. शुरुआती तौर पर लगभग 7000 रुपए के पार्सल चोरी की बात सामने आ रही है.
उदयपुर पुलिस द्वारा भारतीय न्याय संहिता कि धारा 331(4) और 305 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू की गई है.

deshdigital के लिए क्रांतिकुमार रावत

Leave A Reply

Your email address will not be published.