बिहार में पिछले 24 घंटों में मिले 13,089 संक्रमित मरीज तो 10,926 मरीजों ने कोरोना को दी मात

0 0

पटना| बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना को लेकर 97,972 सैंपल की जांच की गई। इनमें से 13,089 नए कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज पाए गए। स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार बिहार में अब एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1,00,821 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा पटना में पाए गए हैं। बताया गया कि गुरुवार को पटना में 2186 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं गया में 1128, बेगूसराय में 666, भागलपुर में 305, सारण में 451 और पश्चिम चंपारण में 390,औरंगाबाद में 353, सुपौल में 416, समस्तीपुर में 494,पूर्णिया में 483 और नालंदा में 510 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज पाए गए हैं।

यह भी बताया गया कि राज्य में अब तक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 3,51,162 हो चुकी है। लेकिन चिंता की बात यह है कि रिकवरी रेट 77.27 प्रतिशत ही रह गया है। बताया गया कि पिछले 24 घंटे में जहां 13,089 नए कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज पाए गए वहीं 10,926 मरीजों ने कोरोना को मात भी देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। बता दें कि बुधवार को बढ़ते कोरोना संकट के मद्देनजर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की थी।

कोरोना संकट के बीच सरकार ने जारी की ये नई गाइडलाइंस

बिहार में नहीं लगेगा लॉकडाउन-सभी डीएम एसपी को कोरोना वायरस से बचने के लिए जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश। पूरे राज्य में धारा 144 लगाने का फैसला-शाम 4 बजे तक ही खुलेंगी दुकानें। इवनिंग कर्फ्यू का वक्त और कम किया गया। शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू होगा इवनिंग कर्फ्यू। मार्किट में की जाएगी और ज्यादा कड़ाई।

सभी डीएम एसपी को कोरोना वायरस से बचने के लिए जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश। माइकिंग द्वारा बताया जाएगा कि किस मोहल्ले में कितने कोविड पेशेंट है। कोरोना से होने वाले डेथ का अंतिम संस्कार अब राज्य सरकार कराएगी। जहां ज्यादा केस वहां कंटेनमेंट जोन बनाएं जाएंगे। शादी समारोह में भी अब अधिकतम 50 लोग ही हो सकेंगे शामिल। अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोग ही हो सकेंगे शामिल। शादी के लिए रात्रि कर्फ्यू में रात 10 बजे तक छूट लेकिन डीजे पर लगाया गया प्रतिबंध। सभी डीएम एसपी को कोरोना वायरस से बचने के लिए जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश। दवा और दूध की दुकानें खुली रहेंगी। कोरोना जांच को और बढ़ाया जाएगा। सभी जिलों में वेंटिलेटर शुरू किए जाएंगे, डीएम और स्वास्थ्य अधिकारी अपने स्तर पर लेंगे फैसला। रेमडेसिवीर और जरूरी दवाएं मरीजों को मिल सके इसकी व्यवस्था की जाएगी। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए किराये पर एंबुलेंस लिया जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.