तेन्दूपत्ता संग्रहण: 3 से 5 मार्च तक ‘बूटा कटाई तिहार‘

तेन्दूपत्ता संग्रहण के लिए दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल अंतर्गत आगामी 03 मार्च से 05 मार्च 2022 तक समस्त फड़ों में ‘बूटा कटाई तिहार‘ के रूप में मनाया जाएगा। इसके तहत वनमंडल के समस्त समितियों को एक साथ शाखकर्तन कार्य करने के निर्देश दिये गये है, ताकि वनमंडल अंतर्गत शाखकर्तन के लगभग 45-50 दिनों के बाद एक साथ तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य प्रारंभ हो सके।

0 407

- Advertisement -

रायपुर | तेन्दूपत्ता संग्रहण के लिए दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल अंतर्गत आगामी 03 मार्च से 05 मार्च 2022 तक समस्त फड़ों में ‘बूटा कटाई तिहार‘ के रूप में मनाया जाएगा। इसके तहत वनमंडल के समस्त समितियों को एक साथ शाखकर्तन कार्य करने के निर्देश दिये गये है, ताकि वनमंडल अंतर्गत शाखकर्तन के लगभग 45-50 दिनों के बाद एक साथ तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य प्रारंभ हो सके।

अच्छी गुणवत्ता के तेन्दूपत्ता संग्रहण के उद्देश्य से विगत दिवस जिला यूनियन स्तरीय शाखकर्तन प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन नीलाम हॉल काष्ठागार कोंडागांव में किया गया। इसमें तेन्दूपत्ता संग्रहण पूर्व शाखकर्तन कार्य, तेन्दूपत्ता संग्रहण, परिवहन, भण्डारण एवं भुगतान के संबंध में वनमंडलाधिकारी सह प्रबंध संचालक श्री यू.के. गुप्ता द्वारा आवश्यक निर्देश दिए गए।

साथ ही उनके द्वारा वनों को अग्नि से सुरक्षा के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। चालू वर्ष के दौरान दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल अंतर्गत 21 हजार मानक बोरा तेन्दूपत्ता के संग्रहण का लक्ष्य है।

- Advertisement -

वनमंडलाधिकारी श्री गुप्ता ने कार्यशाला में उपस्थित उप वनमंडलाधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारी, पोषक अधिकारी, फड़ अभिरक्षक, प्रबंधक, फड़मुंशी, समिति के संचालक मंडल एवं तेन्दूपत्ता संग्राहकों को वर्ष 2022 में तेंदूपत्ता शाखकर्तन कार्य के सुचारू संचालन के संबंध में आवश्यक निर्देेश दिए।

दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल अंतर्गत आगामी 03 मार्च से 05 मार्च 2022 तक समस्त फड़ों में ‘बूटा कटाई तिहार‘ के रूप में मनाया जाएगा। इसके तहत वनमंडल के समस्त समितियों को एक साथ शाखकर्तन कार्य करने के निर्देश दिये गये है, ताकि वनमंडल अंतर्गत शाखकर्तन के लगभग 45-50 दिनों के बाद एक साथ तेंदूपत्ता तोड़ाई का कार्य प्रारंभ हो सके।

कार्यशाला में उपस्थित समस्त प्रबंधक, फड़मुंशी, गणमान्य व्यक्तियों, वनमंडल अधिकारी कर्मचारियों ने निर्णय लिया है कि इस दौरान दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल में उच्च गुणवत्ता के तेंदूपत्ता संग्रहण पर विशेष जोर दिया जाएगा। जिससे तेंदूपत्ता संग्राहकों को तेन्दूपत्ता के संग्रहण में अधिक से अधिक लाभ मिल सके।

कार्यशाला में उप वनमंडलाधिकारी दक्षिण कोंडागांव श्री एम.एस. नाग द्वारा तेन्दूपत्ता शाखकर्तन, संग्रहण, भण्डारण एवं भुगतान के संबंध में विस्तृत प्रकाश डाला गया। जिला यूनियन दक्षिण कोण्डागांव में कुल 11 लॉटों में से 04 लॉट अग्रिम में विक्रय हो चुका है, शेष 07 लॉट में विभागीय खरीदी की जायेगी। कार्यशाला में समस्त अधिकारी कर्मचारी एवं प्रबंधक, फड़मुंशियों समिति के संचालक मंडल सहित 270 प्रतिभागी शामिल हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.