धनबाद में डाका डालने आए अपराधियों ने की महिला की हत्या

धनबाद के कुसुम बिहार बीएसएनल टेलीफोन एक्सचेंज के बगल में डकैतों ने भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया। सोमवार की रात हुई इस वारदात में डकैतों ने घर पर अकेले रह रही मालकिन शीला सिन्हा की हत्या कर दी। शीला सिन्हा बीएसएनएल एसडीओ सतीश चंद्र प्रसाद सिन्हा की विधवा थीं।

0 1

रांची| धनबाद के कुसुम बिहार बीएसएनल टेलीफोन एक्सचेंज के बगल में डकैतों ने भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया। सोमवार की रात हुई इस वारदात में डकैतों ने घर पर अकेले रह रही मालकिन शीला सिन्हा की हत्या कर दी। शीला सिन्हा बीएसएनएल एसडीओ सतीश चंद्र प्रसाद सिन्हा की विधवा थीं।

घटना सोमवार की रात करीब साढ़े नौ से 10 बजे के बीच की बताई जा रही है। डकैतों ने कांड को अंजाम देने के बाद घर के दरवाजे पर ताला लगा दिया था। पटना एलआईसी एचएफएल में कार्यरत शीला सिन्हा के बेटे समित कुमार सिन्हा ने जब अपनी मां को फोन लगाया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसके बाद समित को शंका हुई तो उन्होंने घर के ऊपर तल पर किराए पर रहने वाले सेंट्रल जीएसटी इंस्पेक्टर दिलीप कुमार को मामले की सूचना दी। दिलीप कुमार जब गेट पर पहुंचे तो वहां ताला लगा पाया। कुछ देर तक इंतजार करने के बाद सबको अनहोनी की आशंका हुई। इसके बाद किरायेदारों ने ताले को तोड़ने की कोशिश की।

इसी दौरान दिलीप कुमार ने पुलिस कंट्रोल रूम 100 पर फोन कर पुलिस को जानकारी दी। रात करीब साढ़े 11 बजे पुलिस टीम सरायढेला थाना प्रभारी किशोर तिर्की के नेतृत्व में मौके पर पहुंची। पुलिस जब ताला तोड़कर अंदर गई तो देखा कि शीला सिन्हा कमरे में बिस्तर के बगल में अचेत पड़ी हुई थीं। सभी कमरों में सामान बिखरा पड़ा था। मामले की गहराई को देखते हुए फौरन एसएसपी असीम विक्रांत मिंज, सिटी एसपी और आर रामकुमार और एएसपी लॉ एंड ऑर्डर मनोज स्वर्गियरी घटनास्थल पर पहुंचे। घर के चारों ओर तलाशी ली गई।

एसएसपी ने स्वयं जीएसटी इंस्पेक्टर सहित आसपास के लोगों से पूछताछ की। घटना को लेकर देर रात तक शीला सिन्हा के घर के बाहर आसपास के लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। शीला सिन्हा की पुत्री श्वेता सिन्हा की शादी छत्तीसगढ़ में गौरव से हुई है। वह छत्तीसगढ़ में ही रहती हैं। घर पर शीला लंबे समय से अकेले रहती थीं। डकैतों ने इसी बात का फायदा उठा।

प्रथम दृष्टया लूटपाट के दौरान महिला की हत्या होने की आशंका प्रतीत हो रही है। हालांकि डकैत घर से क्या-क्या ले जा पाए इसकी कोई सटीक जानकारी अभी तक नहीं मिल पाई है। डकैतों की संख्या के संबंध में भी अस्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। – असीम विक्रांत मिंज, एसएसपी, धनबाद

Leave A Reply

Your email address will not be published.