मौली गांगुली को उनके सोशल मीडिया फैन फॉलोइंग के आधार पर जज करना अपमानजनक

टीवी एक्ट्रेस मौली गांगुली ने हाल ही में खुलासा किया था कि उन्हें एक शो से रिजेक्ट कर दिया गया था क्योंकि उनकी सोशल मीडिया पर फैन फॉलोइंग ज्यादा नहीं थी।

0 192

- Advertisement -

मुंबई । टीवी एक्ट्रेस मौली गांगुली ने हाल ही में खुलासा किया था कि उन्हें एक शो से रिजेक्ट कर दिया गया था क्योंकि उनकी सोशल मीडिया पर फैन फॉलोइंग ज्यादा नहीं थी।

इस खबर के बाद टीवी एक्ट्रेस निया शर्मा उनके सपोर्ट में उतर आई हैं। उन्होंने मौली गांगुली जैसे अनुभवी एक्ट्रेस के लिए अपना समर्थन दिखाया है।

निया ने इंस्टाग्राम पर मौली के सपोर्ट में एक पोस्ट भी किया था। इस बारे में निया शर्मा ने कहा, ‘हर क्षेत्र और प्रोफेशन में परेशानियां होती हैं, लेकिन कभी-कभी शोबिज में होने वाली चीजों के बारे में पढ़ना या सुनना भयावह होता है।

टीवी इंडस्ट्री में प्रतिभाशाली, अनुभवी अभिनेताओं की कमी नहीं है, लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी अच्छी फॉलोइंग नहीं हो सकती है। यह कैसे मायने रखता है?

- Advertisement -

उन्होंने कहा मुझे याद है कि कैसे मौली ने ‘कहीं किसी रोज’ जैसे टीवी शो में काम किया था और यह कई साल पहले हिट शो में से एक था।

’ निया शर्मा कहती हैं कि किसी अभिनेता को उनके सोशल मीडिया फैन फॉलोइंग के आधार पर जज करना अपमानजनक है। उन्होंने कहा, ‘सोशल मीडिया को आपके निजी जीवन तक सीमित होना चाहिए, यह किसी को किसी प्रोजेक्ट में कास्ट करने का आधार नहीं हो सकता है।

कुछ वरिष्ठ कलाकार ऐसे हैं जिनके फॉलोअर्स सीमित हैं, लेकिन वे टीवी शो में कमाल कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि हां मेरे सोशल मीडिया फैन फॉलोइंग बहुत अच्छी है, लेकिन इससे मुझे रोल मिलने में मदद नहीं मिली है।

इसके विपरीत, जब मैंने 10 साल पहले ‘एक हज़ारों में मेरी बहना है किया था’ तब मैं इंस्टाग्राम पर नहीं था, लेकिन शो की अच्छी व्यूअरशिप थी। कास्टिंग पहले सोशल मीडिया पर निर्भर नहीं थी।

लेकिन अभी ये सुनना बहुत अजीब है कि अच्छी फैन फॉलोइंग वाले अभिनेता अच्छी रेटिंग ला सकते हैं।’ निया शर्मा टीवी की दुनिया का बड़ा नाम हैं, ‘वे एक हजारों में मेरी बहना है’, ‘इस प्यार को क्या नाम दूं’, ‘जमाई राजा’, ‘पवित्र रिश्ता’, ‘कुबूल है’, ‘आप के आ जाने से’, ‘नागिन 3’ और ‘नागिन 5’ का हिस्सा रह चुकी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.