कोयला संकट नहीं तो, ट्रेनें रद्द क्यों की जा रही हैं : भूपेश

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि अगर कोयले की कोई कमी नहीं है तो यात्री ट्रेन सेवाएं क्यों बंद कर दी गईं?

0 74

- Advertisement -

नई दिल्ली | छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि अगर कोयले की कोई कमी नहीं है तो यात्री ट्रेन सेवाएं क्यों बंद कर दी गईं? छत्तीसगढ़ से 23 मालगाड़ियां कैंसिल हुई हैं, फिर रेल मंत्री से बात की तो 6 ट्रेनें चलाई गईं।

सीएम भूपेश बघेल शनिवार को राज्यों के मुख्यमंत्री, प्रधान न्यायाधीश और उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश, देशभर की अदालतों के विषय पर हुए सम्मलेन में शामिल होने दिल्ली पहुंचे हैं।  मीडिया से बात करते हुए सीएम बघेल ने कहा, अगर (कोयले की) कोई कमी नहीं है, तो यात्री ट्रेन सेवाएं क्यों बंद कर दी गईं? छत्तीसगढ़ से 23 मालगाड़ियां कैंसिल हुईं, फिर रेल मंत्री से बात की तो 6 ट्रेनें चलाई गईं।

विदेश से इतना महंगा कोयला मंगा रहे हो और राज्यों को रॉयल्टी भी नहीं दे रहे हो। राज्यों के नुकसान पहुंचा रहे हो, यहां के कोयले को रॉयल्टी भी नहीं दे रहे हो|

- Advertisement -

पेट्रोल–डीजल पर के सवाल पर   कहा, रसोई गैस तो VAT के दायरे में नहीं आती तो उसका दाम 400 से 1050 रुपये क्यों हो गया है। अगर घटाना ही है तो पेट्रोल-डीजल पर सेस टैक्स खत्म कर दीजिए|

बता दें  कोयले की कमी से ट्रेनें रद्द करने के रेलवे के फैसले पर विपक्षी दल कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कई राज्यों में बिजली की भारी कटौती को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और केंद्र की मोदी सरकार से सवाल किया कि क्या उन्हें देश और जनता की फिक्र नहीं है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मौन रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि आने वाले दिनों में बिजली की मांग और बढ़ने की स्थिति से निपटने के लिए उसकी क्या योजना है।

इधर देश के कई हिस्सों में बिजली उत्पादन संयंत्र कोयला संकट का सामना कर रहे हैं। रेलवे ने इससे निपटने के लिए और कोयले की आपूर्ति के लिए कई करीब 670 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है, ताकि कोयला ले जा रही माल गाड़ियों के फेरों को बढ़ाया जा सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.